अब कोहली की कोच रवि शास्‍त्री से नहीं बैठ रही ट्यूनिंग, कप्तान ने कही यह बात

author image
Updated on 25 Jan, 2018 at 11:20 am

Advertisement

टीम इंडिया और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीसरा टेस्ट मैच जोहानसबर्ग के वांडर्स स्टेडियम में खेला जा रहा है। भारतीय फैंस यही उम्मीद कर रहे हैं कि भले ही टीम इंडिया सीरीज अपने नाम नहीं कर पाई, लेकिन आखरी मैच में वह विरोधी टीम को पूरी टक्कर दे।

 

उधर, मैच से पहले कप्तान विराट कोहली ने प्रेस कॉफ्रेंस में कहा था कि वह दौरे के लिए की गई टीम की तैयारी से खुश हैं। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि भारतीय टीम ये टेस्ट सीरीज तैयारी की कमी की वजह से नहीं, बल्कि अपनी गलतियों की वजह से हारी।

 

 

जहां एक तरफ टीम के कप्तान तैयारियों में कमी को हार का कारण नहीं मानते। वहीं, दूसरी ओर टीम के ही कोच रवि शास्त्री की सोच कोहली से एकदम अलग है।

 

दरअसल, कोच शास्त्री ने सीरीज का आखिरी मैच शुरू होने से पहले कहा था कि भारतीय टीम अगर 10 दिन पहले अफ्रीका आई होती तो रिजल्ट कुछ और हो सकता था।

 


Advertisement

 

यहां आपको बता दें कि साउथ अफ्रीका में भारत के पास दो दिवसीय अभ्यास मैच खेलने का मौका था, लेकिन उसे रद्द कर दिया गया था। भारतीय टीम मैनेजमेंट द्वारा प्रैक्टिस मैच रद्द करने के पीछे कहा गया था कि अभ्यास मैच की बजाय नेट प्रैक्टिस से टीम इंडिया को बेहतर तैयारियों में मदद मिलेगी। इसके बाद जो टीम इंडिया की हालत है वो आप सबके सामने है।

 

 

आमतौर पर विराट कोहली और रवि शास्त्री के बीच काफी तालमेल देखने को मिलता है, लेकिन जोहान्सबर्ग टेस्ट से एक दिन पहले विराट ने शास्त्री की बात को सिरे से खारिज कर दिया। विराट ने इन बातों को खारिज किया कि उनकी टीम इस दौरे पर कम तैयारियों के साथ आई थी। विराट कोहली ने कहाः

 

“मुझे व्यक्तिगत तौर पर नहीं लगता कि हमारी तैयारी में कोई कमी थी। मैं अब सीरीज हारने के बाद यहां बैठकर उन पर चर्चा नहीं करना चाहता। हमारे पास तैयारी के लिए एक हफ्ता था, असल में पांच दिन, क्योंकि एक दिन हम सफर कर रहे थे। इस समय में हमने काम किया। जैसा मैंने कहा, हम यहां बैठकर उन बाहरी मुद्दों पर चर्चा नहीं करना चाहते जिनके कारण हम हारे। ये हमारी गलती थी, मौकों को भुनाने में हम सफल नहीं रहे जिस कारण सीरीज में 0-2 से पिछड़ रहे हैं। जवाबदेही एकतरफा नहीं होती है। मुझे लगता है उस बारे में (दौरे संबंधी तैयारियां) ये सामूहिक जिम्मेदारी है और इस पर काफी समय से विचार हो रहा है।”

गौरतलब है कि भारतीय टीम दो टेस्ट मैचों को क्रम से 72 और 135 रन से हार कर पहले ही सीरीज गंवा चुकी है। अब तीसरे टेस्ट मैच में देखते हैं कि टीम इंडिया अपनी शाख बचाने में कामयाब होती है या नहीं।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement