केरलः 21 लापता लोगों के इस्लामिक स्टेट से जुड़ने की आशंका, मुख्यमंत्री ने दी जानकारी

author image
Updated on 11 Jul, 2016 at 5:53 pm

Advertisement

केरल से 21 लापता युवकों के आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट से जुड़ने की आशंका है।

राज्य के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने सोमवार को विधानसभा को सूचित किया कि कुल मिलाकर 21 लोग राज्य से लापता हैं, जिनमें 17 कासरगोड और चार पलक्कड़ से हैं। लापता लोगों में चार महिलाएं और तीन बच्चे।

विधानसभा में विपक्ष के सवाल का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री ने यह भी स्पष्ट किया कि आतंकवाद और चरमपंथ का कोई धर्म नहीं होता है। उन्होंने कहा कि इस मामले को लेकर सरकार समाज में मुस्लिम विरोधी भावनाएं नहीं भड़कने देगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि ये लोग अलग-अलग कारण बताते हुए अपने घरों से निकले थे।


Advertisement

गौरतलब है कि अलग-अलग मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि केरल से लापता लोग सीरिया और अफिगानिस्तान में इस्लामिक स्टेट के शिविरों में रह रहे हैं। इससे पहले कासरगोड के रहने वाले युवक फिरोज को मुंबई हवाई अड्डे से हिरासत में लिया गया था।

मुख्यमंत्री विजयन ने कहा कि सरकार इन लापता लोगों के मामले की जांच गंभीरता से कर रही है। उन्होंने कहा कि केन्द्रीय जांच एजेन्सियों से सहयोग किया जा रहा है।

साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि मौजूदा हालात का इस्तेमाल कर समाज में मुस्लिम विरोधी भावनाएं भड़काने की साजिश रची जा रही है।

विपक्ष के नेता रमेश चेन्निथला ने लापता युवकों का मसला उठाते हुए कहा था कि केरल के कुछ युवकों के इस्लामिक स्टेट से संबंध होने की खबरों से राज्य में भय का माहौल है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement