लकवे के अटैक के बावजूद नहीं हारी हिम्मत, अब यह युवक करेगा पहला कॉन्सर्ट

Updated on 31 Oct, 2017 at 4:57 pm

Advertisement

ब्रेन हैमरेज या फिर लकवे के अटैक बाद लोग अक्सर लोग टूट से जाते हैं और जीवन को लेकर उदासीन हो जाते हैं। वहीं ये 24 वर्ष का लड़का मिसाल कायम कर रहा है।

जी हां! टी. ए. किरण जो कि मस्तिष्क पक्षाघात से पीड़ित है, अपना म्यूजिक कॉन्सर्ट करने जा रहा है। आपको हैरानी होगी कि 24 साल का ये लड़का न ठीक से देख सकता है, न हाथ-पांव हिला सकता है, लेकिन कॉन्सर्ट करने वाला है। बता दें कि उसे समय-समय पर मिर्गी के दौरे भी आते हैं। जीवन भर उसे फीजियोथेरेपी की आवश्यकता होगी।

वह अपनी बीमारी और अपंगता को लेकर जब रोया करता था, तब उसकी मां उसे म्यूजिक सुनाकर शांत करती थी। उसकी मां ने उसका दाखिला केरल के थ्रीस्सुर स्थित रीच स्वासरे में कराया जहां उसने 14 साल की उम्र तक म्यूजिक की शिक्षा हासिल की और राज्य स्तरीय कई प्रतियोगिता में जीत हासिल की।

आगे की पढ़ाई वह सामान्य बच्चों के साथ ही थ्रीस्सुर के गवर्नमेंट मॉडल बॉयज हाई स्कूल से की। यहां भी उसने कई प्रतियोगिता जीती और म्यूजिक पढने के लिए मद्रास यूनिवर्सिटी में दाखिला लिया, जहां वह प्रतिलिपिक की सहायता से परीक्षा दिया करता था।


Advertisement

कॉलेज प्राचार्य पॉल पूर्वथिंगल ने ‘द हिन्दू’अखबार को बतायाः

‘किरण अपने पाठ को याद रखता है और अपनी याददाश्त पर काम करता रहता है। चूंकि देखने की क्षमता नहीं है, तो उसके पास सुनने की अद्भुत शक्ति है। वह अपनी कक्षा का अकेला दिव्यांग छात्र है।’

अब किरण अपना पहला म्यूजिक कॉन्सर्ट करने जा रहा है, और वह बेहद उत्साहित है। उसका लक्ष्य म्यूजिक में डॉक्टरेट करना है। साथ ही नौकरी करना भी। वाकई किरण का जज्बा सब सबके लिए प्रेरणाप्रद है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement