‘कौन बनेगा करोड़पति’ के इन 8 विजेताओं ने खुद को साबित किया है!

Updated on 12 Sep, 2018 at 6:23 pm

Advertisement

‘कौन बनेगा करोड़पति’ सबसे लोकप्रिय कार्यक्रमों में से है और दर्शक इसके 10वें सीजन का आनंद ले रहे हैं। साल 2000 में इसकी शुरुआत की गई और दस संस्करणों तक यह लोगों को आकर्षित करने में सफल हो रहा है। भले ही सभी प्रतियोगी इसमें करोड़पति नहीं बन पाते हैं, लेकिन देखने से लेकर शो तक पहुंचने का जो रोमांच है वो बड़े अनुभव दे जाते हैं। इस शो के माध्यम से ज्ञान की महत्ता पर प्रकाश दिया जाता है, तो वहीं दर्शकों को जोड़े रखने के सभी इंतजाम किए गए हैं।

 

 

अमिताभ बच्चन की आवाज और उपस्थिति इस शो की जान है। कुछ लोग ऐसे रहे, जिन्हें इस शो के माध्यम से करोड़पति बनने का सौभाग्य प्राप्त हुआ। ये आज भी अपने स्तर पर बेहतर काम कर रहे हैं। आइए जानते हैं कि कुछ पुराने करोड़पति अभी अपने जीवन में क्या कुछ कर रहे हैं।

 

1. हर्षवर्धन नवाठे साल 2000 में पहली बार शो के विनर बने।

तब उनकी उम्र महज 27 साल की थी। इन्होंने केबीसी से अर्जित धन से इंग्लैंड जाकर एमबीए की पढ़ाई की। आज ये महिंद्रा एंड महिंद्रा कंपनी में नौकरी कर रहे हैं। इनकी शादी भी हो चुकी है और दो बच्चे हैं। इनका जीवन पहले से बहुत बेहतर हुआ है।

 

 

2. रवि मोहन सैनी को साल 2001 में केबीसी जूनियर के माध्यम से विजेता बनने का सौभाग्य मिला।

महज 14 साल की उम्र में इन्होंने यह मुकाम हासिल किया। आज ये 30 साल के हो चुके हैं और आईपीएस ऑफिसर हैं।

 

 

3. राहत तस्लीम ने केबीसी के चौथे सीजन में विजेता बनने में सफलता हासिल की थी।

वह बेहद गरीब परिवार से थीं। झारखंड की राहत ने इन रुपयों का इस्तेमाल करते हुए गार्मेंट का बिजनेस शुरू किया। आज ये बेहतर जीवन जी रही हैं और महिलाओं के लिए मिसाल बन चुकी हैं।

 

 

4. सुशील कुमार बिहार के पूर्वी चम्पारण जिले के मोतिहारी से हैं। वह वर्ष 2011 में केबीसी के सीजन 5 में पांच करोड़ रुपये जीतकर सुर्ख़ियों में आ गए थे।

महज छह हजार महीने की नौकरी करने वाले सुशील कुमार ने ईनामी राशि से अपने पुश्तैनी मकान की मरम्मत कराई। इसके बाद अपने भाइयों के साथ का बिजनेस शुरू किया। साथ ही सुशील 100 गरीब बच्चों को गांव में पढ़ा रहे हैं और सामाजिक कार्यों में भाग ले रहे हैं।


Advertisement

 

 

5. सुनमीत कौर ने पहले से ही फैशन डिजाइनिंग की डिग्री ले रखी थी, लेकिन घरवाले उन्हें सहयोग नहीं दे रहे थे।

केबीसी में विजेता बनने के बाद इनका जीवन बदल गया। अब सुनमीत स्वतंत्र रूप से अपना फैशन हाउस संचालित कर रही हैं।

 

 

6. ताज मोहम्मद रंगरेज ने सातवें सीजन में भाग लिया था।

ये राजस्थान में शिक्षक का कार्य कर रहे थे। 5 करोड़ रुपये वाले शो में इन्होंने 1 करोड़ जीतने के बाद शो क्विट कर लिया। जीती रकम से इन्होंने अपनी बेटी का इलाज कराया, जिसे आंखों की परेशानी थी। इतना ही नहीं, इन्होंने अपने गांव की दो अनाथ बच्चियों की शादी भी कराई। आजकल ये क्या कर रहे हैं इसकी पूरी जानकारी नहीं है।

 

 

7. अचिन और सार्थक नरुला ने साथ में खेलकर सीजन-8 में रकम जीतने में कामयाबी हासिल की थी।

दोनों ने 7 करोड़ की राशि जीतकर अपनी मां के कैंसर का ट्रीटमेंट कराया। साथ ही इन्होंने दिल्ली में अपना बिजनेस खोला। आज ये दोनों मिलकर बिजनेस को बढ़ाने में जुटे हुए हैं।

 

 

8. अनामिका मजूमदार जमशेदपुर में बतौर सामाजिक कार्यकर्ता काम कर रही हैं।

इन्होंने 1 करोड़ की राशि जीतने के बाद 7 करोड़ के जैकपॉट प्रश्न का जवाब नहीं दिया और शो क्विट कर गई। दो बच्चों की मां अनामिका ‘फेथ इन इंडिया’ नाम से अपना एक एनजीओ चलाती हैं।

 

 

वाकई, अपने ज्ञान की वजह से इन्होंने एक बेहतर मुकाम हासिल किया है और अपने मनमुताबिक़ कार्यों में लगे हैं!

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement