Advertisement

कश्मीर का यह फुटबॉलर आतंकी संगठन लश्कर में शामिल हो गया है

4:16 pm 14 Nov, 2017

Advertisement

कश्मीर लंबे समय से आतंक की समस्या से जूझ रहा है। पाकिस्तान द्वारा प्रायोजित आतंकवाद यहां गाहे-बगाहे सिर उठाता रहा है। पिछले कुछ सालों से घाटी में एक खतरनाक ट्रेन्ड चल रहा है, जिसमें युवा आतंकी संगठनों से जुड़ रहे हैं। खास बात यह है कि ये युवा न केवल पढ़े-लिखे हैं, बल्कि अपने-अपने क्षेत्र में बेहतर काम कर रहे हैं। अब एक ऐसे ही युवा का नाम सामने आ रहा है, जो जिला-स्तर पर फुटबॉल खेल चुका है। हालांकि, वह अब आतंकी संगठन लश्करे तोएबा से जुड़ गया है। इस युवा का नाम है माजिद खान। 20 वर्षीय माजिद अनंतनाग का रहने वाला है। उसने कुछ ही दिन पहले लश्करे तोएबा से जुड़ने की घोषणा की है।

मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि माजिद की इस घोषणा के बाद से उसके परिवार के लोग और रिश्तेदार सदमें में हैं। पिछले सप्ताह के अंत में सोशल मीडिया पर माजिद की एक तस्वीर वायरल हुई थी, जिसमें वह एके-47 के साथ दिखा था।


Advertisement

इसके बाद ही सबको पता चला कि यह युवा फुटबॉलर लश्कर-ए-तैयबा से जुड़ गया है। इस आतंकी संगठन से जुड़ने से पहले माजिद एक समाजसेवी संस्था के साथ काम करता था।

माजिद अनंतनाग के सरकारी बॉयज डिग्री कॉलेज से पढ़ाई कर रहा था। कुछ महीने पहले ही माजिद के दोस्त यावर नासिर हिजबुल मुजाहिदीन का कैडर बन गया था। हालांकि, इस आतंकी संगठन से जुड़ने के महज 15 दिन के अंदर ही पिछले 3 अगस्त को सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में नासिर की मौत हो गई थी।

firstpost
माजिद का चेहरा-मोहरा ऐसा है कि उसे भीड़ में भी पहचाना जा सकता है।

पिछले ढाई महीने में 31 युवा लश्कर और जैश-ए-मोहम्मद जैसे आतंकी संगठनों से जुड़े हैं। सुरक्षा विशेषज्ञ कहते हैं कि आज के युवाओं की अपनी विचारधारा के लिए प्रतिबद्धता उस दौर से कहीं अधिक है। यही वजह है कि इनका आतंकी संगठनों से जुड़ना बेहद खतरनाक इशारा कर रहा है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement