अब करन जौहर का छलका दर्द, कही अपने ‘मन की बात’

author image
Updated on 23 Jan, 2016 at 12:42 am

Advertisement

अब निर्माता-निर्देशक करन जौहर ने भारत में अभिव्यक्ति की आज़ादी पर उंगली उठाई है। जौहर ने कहा कि हम ऐसे देश में रह रहे हैं, जहां अपनी निजी ज़िन्दगी पर भी बोलना आसान नहीं है।

Karan johar

जयपुर साहित्य महोत्सव में करन जौहर ndtvimg

करन के इस बयान से एक नया विवाद खड़ा हो सकता है। करन ने यह बयान जयपुर साहित्य महोत्सव में अपने ऊपर आ रही किताब ‘ए सूटेबल बॉय’ पर हो रही चर्चा के दौरान दिया। उन्होंने इस देश के लोकतांत्रिक होने पर सवाल उठाते हुए कहा कि इस देश में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता मजाक है। वह यहीं नहीं रुके, आगे बढ़ते हुए उन्होंने कहा कि दूसरा सबसे बड़ा मजाक लोकतंत्र बन गया है।

“अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के बारे में बात करना जो कि दुनिया का सबसे बड़ा मजाक है। मेरा मानना है कि लोकतंत्र दूसरा सबसे बड़ा मजाक है। क्या हम वास्तव में लोकतांत्रिक है, यह सोचकर मैं हैरान हो जाता हूं। अभिव्यक्ति की आजादी कहां है? मैं एक फिल्म निर्माता हूं और मैं हर स्तर पर अपने को बंधा हुआ पाता हूं।”


Advertisement

करन कहते है कि वह जहाँ जाते है उनके मन में एक डर बना रहता है कि कब कौन आप पर केस कर दे।

“आज के समय में अपनी बात करना आपको जेल में पहुंचा सकता है। इस देश में व्यक्तिगत जीवन के बारे में बात करने पर आप मुश्किल में पड़ जाते हैं। मैं बहुत दुखी महसूस करता हूं क्योंकि एक सार्वजनिक हस्ती होने के नाते आपसे उम्मीद की जाती है कि आप कोई पहल करें।”

इससे पहले शाहरुख़ खान और आमिर खान को अपने असहिष्णुता वाले बयानों से कई लोगों के नकारात्मक रवैये का शिकार होना पड़ा था। अब करन जौहर का ये बयान असहिष्णुता मुद्दे पर एक और बहस छेड़ता दिख रहा है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement