कानपुर पुलिस ने 100 करोड़ के पुराने नोट जब्त तो कर लिए लेकिन अब इन्हें रखने की जगह नहीं मिल रही

Updated on 24 Jan, 2018 at 9:46 am

Advertisement

नोटबंदी का कहर अब भी जारी है। आम इंसान को तो एटीम के आगे लम्बी-लम्बी कतार से निजात मिल गई है, लेकिन पुलिस के लिए भी यह आज भी मुसीबत है। मामला कानपुर का है, जहां पुलिस को पुराने नोटों ने परेशानी में डाल दिया है। नोट हैं भी पूरे 100 करोड़ रुपये के। हालांकि, समस्या नोट मिलने की नहीं है, बल्कि दिक्कत यह है कि इन करेन्सी नोट्स को रखने की जगह नहीं मिल रही है।

16 जनवरी 2018 को कानपुर पुलिस ने एक बिल्डर के घर छापा मारा था, जहां करीब 100 करोड़ रुपए के पुराने करेन्सी नोट्स बरामद किए गए थे। इस मामले में लगभग 16 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इसके तुरंत बाद पुलिस और एनआईए की टीम ने एक साथ कई स्थान पर छापेमारी की। कई होटल व कंस्ट्रक्शन साइट्स की तलाशी ली गई।

samacharplus.com


Advertisement

अब पुलिस इन नोट्स को रखने के लिए सही जगह तलाश रही है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ये पुराने नोट शहर के बिज़नेसमैन और बिल्डर अशोक खत्री के घर से बरामद किए गए थे। पुलिस का दावा है कि खत्री गै़रकानूनी गतिविधियों में शामिल रहे हैं। पुलिस के अनुसार, इन पुराने नोटों को दुबई और अमेरिका भेजने की योजना थी, जिससे प्रवासी कोटे से इसे बदला जा सके।



प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 8 नवंबर 2016 को अचानक 500 और 1000 रुपए के नोटों को बंद करने की घोषणा की थी। बाद में 500 और 2000 हजार रुपए के नए नोट जारी किए गए। नोटबंदी के बाद नोटों की अदला-बदली की समय-सीमा बीते भी छह महीने से अधिक हो गए हैं, लेकिन पुराने नोट अब भी बरामद किए जा रहे हैं।

बरामद हुए नोटों को फिलहाल स्टील के ट्रंक्स में रखा गया है। इसके लिए सही जगह की तलाश अब भी की जा रही है।

indiatimes.com


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement