गर्मी के मौसम में ज़रूर चखें इन 10 रसीले आम का स्वाद, ज़िंदगी बन जाएगी

9:40 am 7 Jun, 2018

Advertisement

रसीले आम का नाम लेते ही हर किसी के मुंह में पानी आ ही जाता है। क्या करें ये होता ही है इतना स्वादिष्ट कि इसे खाए बिना मन नहीं मानता, तभी तो इसे फलों का राजा कहा जाता है। गर्मी का मौसम भले ही आपको पसंद न हो, मगर गर्मी के मौसम में मिलने वाला आम तो पसंद होगा ही। कैरी पन्ना से लेकर मैंगो मिल्क शेक तक, आम से बनी सारी चीज़ें बहुत लज़ीज़ होती हैं।

चलिए आज हम आपको बताते हैं भारत के कुछ मशहूर रसीले आम के बारे में ताकि आप इस बार गर्मी खत्म होने से पहले इन रसीले आम का स्वाद चख सकें।

 

1. सफेदा/बानगंगापल्ली

 

आंध्र प्रदेश से आने वाला सफेदा गर्मी शुरू होते ही बाज़ार में सबसे पहले आ जाता है। पूरे देश में आपको ये आम मिल जाएगा। इसका स्वाद थोड़ा खट्टा होता है और इस आम में फाइबर बिल्कुल नहीं होता। अप्रैल से जून तक बाज़ार में आपको ये आम मिलता है।

 

 

2. अलफांसो/हापूस

 

अलफांसो जिसे महाराष्ट्र में हापूस के नाम से जाना जाता है, सभी आम का राजा माना जाता है। इस आम का अलफांसो नाम अफोनो डी अल्बुकर्क नामक शख्स के नाम पर पड़ा जिसने भारत में पुर्तगालियों की कॉलोनियां बसाने में मदद की थी। हापूस आम बहुत मीठा और गूदेदार होता है और खासतौर पर महाराष्ट्रा में इसकी फसल होती है। इसके अलावा गुजरात, कर्नाटक और मध्यप्रदेश में भी यह आम उगाया जाते हैं। यह आम थोड़ा महंगा होता है और इसे बाहर निर्यात भी किया जाता है। मई से जून तक हापूस आम आपको बाज़ार में मिल जाएंगे।

 

 

3. दशहरी

 

उत्तर प्रदेश का दशहरी आम की पुरानी किस्मों में से एक है और ये लखनऊ के नवाबों के बगीचों में 18वीं सदी में भी उगाए जाते थे। ये बहुत मीठा होता है और जून से जुलाई महीने तक आप इसका स्वाद ले सकते हैं।

 

 

4. पायरी

 

पायरी आम बहुत मीठा नहीं होता, इसका स्वाद थोड़ा खट्टा होता है। गुजरात में आमरस बनाने के लिए केसर और पायरी आम का ही ज़्यादा इस्तेमाल होता है। इस आम की क्वालिटी बहुत अच्छी नहीं होती, इसलिए खरीदने पर तुरंत इसका इस्तेमाल कर लेना चाहिए। मई से जून के बीच ये आम बाज़ार में बिकता है।

 

 

5. तोतापुरी

 

नाम से ही लगता है जैसे हम तोते की चोंच का जिक्र कर रहे हों। दरअसस, ये थोड़ा लंबा होता है। तोतापुरी कर्नाटक, आंध्रप्रदेश, तेलंगाना और तमिलनाडू से देश के बाकी हिस्सों मे जाता है। ये मीठा नहीं होता, इसलिए इसका इस्तेमाल अचार बनाने में ज़्यादा होता है। जून से जुलाई तक ये आम आपको बाज़ार में मिलेंगे।


Advertisement

 

 

6. लंगड़ा

 

इस आम का नाम वाराणसी के एक लंगड़े किसान के नाम पर रखा गया जिसने अपने घर के पीछे आम की इस नई किस्म को देखा था। पश्चिम बंगाल, हरियाणा, बिहार और उत्तर प्रदेश में ये आम बहुत मशहूर है, क्योंकि ये बहुत मीठा होता है। जुलाई के मध्य से अगस्त तक ये आम बाज़ार में मिलता है।

 

 

7. हिमसागर

 

हिमसागर पश्चिम बंगाल में बहुत मशहूर है और इसका स्वाद बहुत मीठा होता है। इसकी खुशबू भी अच्छी होती है इस आम का मिल्कशेक बहुत स्वादिष्ट बनता है, मगर ये ज़्यादा दिनों तक नहीं मिलता। ये आम सिर्फ मई महीने में ही मिलता है।

 

 

8. केसर

 

इसकी खूशबू बहुत अच्छी होती है। इसके गुदे का रंग कुछ कुछ केसर जैसा होता है। ये आम गुजरात में ज़्यादा होता है। गुजराती लोग आमरस के लिए इसी आम का इस्तेमाल करते हैं। केसर जून से जुलाई तक मिलता है।

 

 

9. नीलम

 

इस आम की खुशबू भी अच्छी होती है, वैसे तो नीलम पूरी गर्मी के मौसम में मिलता है। हालांकि, सबसे स्वादिष्ट आम जून में मॉनसून आने के समय का होता है। हैदराबाद में ये खासतौर पर बहुत लोकप्रिय है। ये आम पूरे देश में उगाए जाते हैं और आकार में ये थोड़े छोटे होते हैं। मई से जुलाई तक आप इस आम का मज़ा ले सकते हैं।

 

 

10. चौसा

 

गर्मी का मौसम खत्म होने पर जब आप सोचते हैं कि अब तो बाज़ार में आम नहीं मिलेंगी चौसा आम तभी मिलता है। उत्तर भारत और बिहार में ये आम लोकप्रिय है। इसका स्वाद बहुत मीठा होता है और इस आम की सबसे अच्छी किस्म पाकिस्तान से आती है। जुलाई से अगस्त तक आप इस आम का स्वाद चख सकते हैं।

 

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement