कन्हैया सहित 4 छात्रों को JNU से निकालने की सिफारिश

author image
Updated on 15 Mar, 2016 at 11:52 am

Advertisement

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में पिछले 9 फरवरी को देश विरोधी नारेबाजी के मामले में एक पांच सदस्यीय उच्चस्तरीय कमेटी ने कन्हैया कुमार, उमर खालिद, अनिर्बान भट्टाचार्य और दो अन्य छात्रों को निकालने की सिफारिश की है।

कमेटी ने विश्वविद्यालय के कुलपति एम. जगदीश कुमार को अपनी रिपोर्ट सौंप दी है। आखिरी फैसला उन्हें ही करना है।

रिपोर्टः JNU छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार गिरफ्तार; जज ने पूछा कैसी आजादी चाहिए

इस मामले में 21 अन्य छात्रों को भी कारण बताओ नोटिस भेजा गया है और उन्हें 16 मार्च तक जवाब देने के लिए कहा गया है। बताया गया है कि इन छात्रों पर भी कड़ी कार्रवाई की जा सकती है।

गौरतलब है कि पिछले 9 फरवरी को आतंकवादी अफजल गुरु के समर्थन में JNU में हुए कार्यक्रम में देश-विरोधी नारेबाजी हुई थी। इसके बाद छात्र नेता कन्हैया कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया था। बाद में उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य की भी गिरफ्तारी हुई।


Advertisement

रिपोर्टः कन्हैया कुमार का विविदित भाषण; कहा- कश्मीर में सुरक्षा के नाम पर रेप करते हैं सेना के जवान

इस बीच, दिल्ली पुलिस ने तलाशी के लिए जेएनयू को एक नोटिस दिया है, जिसमें कहा गया है कि पुलिस उमर खालिद और अनिर्बाण भट्टायार्य के कमरे की तलाशी लेना चाहती है। पुलिस ने उन दोनों के लैपटॉप जब्त कर लिए हैं और उसकी जांच की जा रही है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement