कश्मीर की पहली महिला मुख्यमंत्री बन महबूबा ने रचा इतिहास

author image
Updated on 4 Apr, 2016 at 2:52 pm

Advertisement

महबूबा मुफ्ती ने जम्मू-कश्मीर की पहली महिला मुख्यमंत्री बनकर इतिहास रच दिया है। राज्यपाल एनएन वोहरा उन्हें सोमवार को 13वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ दिलवाई। वहीं, भारतीय जनता पार्टी विधायक दल के नेता डॉ. निर्मल सिंह को उप-मुख्यमंत्री बनाया गया है।

महबूबा के साथ ही इस सरकार में शामिल 22 पीडीपी और भाजपा के 22 विधायकों ने भी शपथ ली। सरकार में 16 कैबिनेट और 8 राज्यमंत्री हैं।

राजभवन में यह शपथ ग्रहण समारोह 11 बजे दिन में शुरू हुआ। इसमें भाजपा की तरफ से केन्द्रीय मंत्री वेंकैया नायडू और जितेन्द्र सिंह मुख्य अतिथि थे।

बताया गया है कि महबूबा मुफ्ती की नेतृत्व वाली पीडीपी के मंत्रियों की टीम वही पुरानी है, जबकि भाजपा ने इस बार एक बदलाव किया है।

कांग्रेस पार्टी ने किया बहिष्कार।


Advertisement

जम्मू-कश्मीर में कांग्रेस इकाई के प्रवक्ता रविंदर शर्मा ने शपथ ग्रहण समारोह के बहिष्कार का ऐलान करते हुए कहा कि एक बार गलत तरीके से पीडीपी और भाजपा ने गठबंधन किया है। उन्होंने कहा कि इन पार्टियों का गठबंधन पहले भी सही नहीं था। शर्मा ने कहा कि इन दोनों राजनीतिक दलों ने जम्मू-कश्मीर की जनता के साथ दगा किया है। पहले तो ये एक-दूसरे के खिलाफ चुनाव में उतरे और बाद में सत्ता के लिए हाथ मिला लिया।

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद के निधन के बाद पीडीपी और भाजपा में मंत्रालय को लेकर सामन्जस्य नहीं बन रहा था। इसलिए, बीच में कुछ दिनों के लिए यहां राष्ट्रपति शासन भी लागू कर दिया गया था।

बताया गया है कि भाजपा ने कैबिनेट के बराबर बंटवारे की अपनी मांग छोड़ दी और पीडीपी को कुछ अधिक मंत्रालय देने पर तैयार हो गई।

महबूबा की बेटी ने बताया ऐतिहासिक क्षण।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement