जापान के कोकुरा शहर पर गिराना था परमाणु बम, अंतिम समय में निशाना बना नागासाकी

author image
Updated on 9 Aug, 2018 at 2:51 pm

Advertisement

अमेरिका ने 6 अगस्त 1945 की सुबह जापान के हिरोशिमा शहर पर परमाणु बम गिराये जाने पांच दिन बाद यानि 11 अगस्त को कोकुरा शहर पर परमाणु हमले की योजना बना रखी थी। हालांकि, ऐन समय पर इस योजना में तब्दीली की गई और 9 अगस्त 1945 को नागासाकी पर परमाणु बम गिरा दिया गया। माना जाता है कि मौसम साफ नहीं होने की वजह से अमेरिका ने कोकुरा के बदले नागासाकी को निशाने पर लिया। इस दिन परमाणु हमले में हजारों लोगों ने अपनी जान गंवा दी। जिस वक्त परमाणु बम गिराया गया, उस वक्त जापान के औद्योगिक शहर नागासाकी में करीब ढाई लाख लोग मौजूद थे।

नागासाकी पर हमले के बाद की तस्वीरें हालात को बयां करते हैं।

 

इससे पहले हिरोशिमा शहर परमाणु तबाही का मंजर झेल चुका था।

 


Advertisement

 

 

लगातार दो शहरों पर हुए परमाणु हमलों की विभीषिका झेलने वाले जापान ने आत्मसर्पण करने में ही भलाई समझी, क्योंकि युद्ध के लंबा खिंचने पर उसे अधिक नुकसान होने की आशंका थी। यही वजह है कि जापान के शासक ने 15 अगस्त 1945 को आत्मसमर्पण की घोषणा कर दी।

इसके बाद 2 सितंबर 1945 को द्वितीय विश्व युद्ध के समापन की घोषणा हो गई।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement