भारत ने किया स्क्रैमजेट इंजन का सफल परीक्षण, ISRO नई कामयाबी के मुकाम पर

author image
Updated on 28 Aug, 2016 at 11:51 am

Advertisement

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने एकबार फिर नया इतिहास रचा है। आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से रविवार की सुबह सुपर सोनिक कम्बशन रेम जेट (स्क्रैमजेट) इंजन का सफल परीक्षण किया।

बताया गया है कि इस इंजन का प्रयोग केवल रॉकेट के वायुमंडलीय चरण के दौरान ही होता है। यह ईंधन के साथ प्रयोग होने वाले ऑक्सीडाइजर की मात्रा को घटा कर प्रक्षेपण लागत को कम करने में मददगार साबित होता है।


Advertisement

तय समयानुसार दो स्टेज/इंजन आरएच-560 साउंडिंग रॉकेट ने आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र (एसडीएससी) से उड़ान भरी।

इसरो की तरफ से कहा गया कि दो स्क्रैमजेट इंजनों के परीक्षण का यह मिशन सफल रहा है। हालांकि, अब तक इस परीक्षण से संबधित अंतिम जानकारी साझा नहीं की जा सकी है।

इसरो के चेयरमैन डॉ. किरन कुमार ने इसे बड़ी सफलता करार दिया।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement