अंतरिक्ष में ISRO की एक और बड़ी छलांग, मौसम उपग्रह इनसैट-3डीआर हुआ लॉन्च

author image
Updated on 8 Sep, 2016 at 5:43 pm

Advertisement

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने इतिहास रचते हुए श्रीहरिकोटा के सतीश धवन स्पेस सेंटर से इनसैट-3डीआर को लॉन्च कर दिया है। आपको बता दें कि 8 सितंबर को सैटेलाइट को ले जाने वाले जीएसएलवी-05 का कई चरणों में सफल परीक्षण किया गया था।

यह पहली बार है जब एडवांस्ड स्वदेशी क्रायोजेनिक (क्रायोजेनिक अपर स्टेज) इंजन के जरिए अधिक वजनी सैटेलाइट भेजा गया है, जो देश में मौसम संबंधी सेवाओं के लिए अपनी सेवाएं प्रदान करेगा।

इनसैट-3डीआर भारत का एक आधुनिक मौसमविज्ञान-संबंधी सैटेलाइट है, जिसमें इमेजिंग सिस्टम और वायु-मंडल-संबंधी घोषक हैं। इसमें छह चैनल इमेजर व 19 चैनल ध्वनि उपकरण लगे हैं।

मौसम संबंधित सैटेलाइट ‘इनसेट-3डीआर’ में कई अत्याधुनिक उपकरण लगे हैं, जो मौसम की सटीक गणना करने में सक्षम हैं।

ISRO ने इस सैटेलाइट में टू टन क्लास प्लेटफॉर्म (आई-2के बस) तकनीक का उपयोग किया है। यह कार्बन फाइबर रीइनफोर्स्ड प्लास्टिक से निर्मित है।

यह सैटेलाइट 1,700 वाट सौर पैनल से खुद ऊर्जा बनाएगा। इनसे रात में भी बादलों और धुंधले आकाश पर साफ नजर रखी जा सकेगी। थर्मल इंफ्रारेड बैंड से समुद्र के तापमान को सटीक मापा जा सकेगा। अपने डाटा रिले ट्रांसपोंडर और सर्च और रेस्क्यू ट्रांसपोंडर के जरिए बचाव अभियानों में मददगार साबित होगा।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement