भारत में जड़ें जमा चुका है इस्लामिक स्टेट, 500 से अधिक सदस्य बने

author image
Updated on 31 May, 2016 at 3:43 pm

Advertisement

भारत से अब तक 500 से अधिक लोग इस्लामिक स्टेट के सदस्य बन चुके हैं। भारत सरकार का दावा है कि अंतर्राष्ट्रीय आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट का असर भारतीय मुसलमानों पर अधिक नहीं है, लेकिन इस रिपोर्ट में कहा गया है कि इस्लामिक स्टेट भारतीय युवाओं को आकर्षित कर रही है।

यही वजह है कि इस आतंकवादी संगठन से प्रभावित अधिकतर युवा किसी न किसी बहाने इराक और सीरिया जाने की राह तलाश रहे हैं।

रिपोर्ट में कहा गया है कि जिन लोगों के आतंकवादी संगठन से जुड़ने की खबरें मिली हैं, उन पर नजर रखी जा रही है। सुरक्षा एजेन्सियां कई लोगों को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ कर रही है।

इस्लामिक स्टेट से प्रभावित होने वालों में उन लोगों की संख्या अधिक है जो पहले जैश-ए-मोहम्मद, इंडियन मुजाहिदीन, लश्कर-ए-तैयबा, हिजबुल मुजाहिदीन और दूसरे आतंकी संगठनों के असर में थे।

सुरक्षा एजेन्सियों का कहना है कि कई युवा महज शरिया आधारित कानून-व्यवस्था होने की वजह से ही इस्लामिक स्टेट की तरफ आकर्षित होते हैं। दरअसल, उन्हें लगता है कि मुसलमानों ने पश्चिम की वजह से काफी नुकसान झेला है। इसकी भरपाई करने का यही वक्त है।

युवाओं को यह भी लगता है कि आधुनिक दुनिया में गलत परंपराएं चल निकली हैं और इस्लामिक स्टेट के नियम-कानून से यह ठीक हो सकता है।


Advertisement

बताया गया है कि इस्लामिक स्टेट से जुड़ने वाले अधिकतर भारतीय जम्मू-कश्मीर, कर्नाटक, केरल, आंध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल और महाराष्ट्र से संबद्ध हैं।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement