इस्लाम देता है किन्नरों को शादी की इजाजत, पाकिस्तान में जारी हुआ फतवा

author image
Updated on 4 Nov, 2016 at 1:06 pm

Advertisement

पाकिस्तान में जारी एक फतवे में कहा गया है कि इस्लाम किन्नरों को शादी की इजाजत देता है। लाहौर के 50 से अधिक मुफ्तियों द्वारा जारी इस फतवे के मुताबिक, किन्नरों का निकाह इस्लामी कानून के मुताबिक वैध है।

यह फतवा संगठन इत्तेहाद-ए-उम्मत पाकिस्तान की अपील पर जारी किया गया है।

इस रिपोर्ट में इत्तेहाद-ए-उम्मत पाकिस्तान के प्रमुख जिया उल हक नक्शबंदी के हवाले से बताया गया है कि ‘ऐसे किन्नर जिनमें शारीरिक रूप से पुरुषों के अंग हैं, उनका ऐसे खोजे से निकाह जायज है जिसमें स्त्री के अंग मौजूद हों।’

 


Advertisement

हालांकि, मुफ्तियों ने यह स्पष्ट किया है कि जिन किन्नरों में पुरुष और महिला दोनों के अंग हैं, उनका निकाह जायज नहीं है।

मुफ्तियों ने किन्नरों का मजाक उड़ाने पर भी पाबंदी लगाई है।

यही नहीं, फतवे में सिफारिश की गई है कि ऐसे माता-पिता पर कार्रवाई की जाए तो किन्नर बच्चों को अपनी संपत्ति से बेदखल करते हैं।

इसके अवाला सरकार से किन्नरों को पहचान पत्र जारी किए जाने की मांग भी की गई है, ताकिव वे नौकरी, व्यापार और सामाजिक गतिविधियों में भाग ले सकें।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement