भारत में इस्लामिक स्टेट का पहला हमला, हमलावरों ने सीरिया भेजी थी बम की तस्वीर

author image
Updated on 8 Mar, 2017 at 10:27 am

Advertisement

मध्यप्रदेश में भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन में हुआ धमाका भारत में अंतर्राष्ट्रीय आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट का पहला हमला है। शाजापुर के नजदीक हुए धमाके में कम से कम 9 लोग घायल हो गए थे। माना जा रहा है कि यह धमाका आतंकवादियों का ट्रायल रन था और वह किसी बड़े हमले की फिराक में थे।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने धमाकों में संलिप्त आतंकवादियों के इस्लामिक स्टेट से कनेक्शन की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि ट्रेन में पाइप बम रखने के बाद इन आतंकवादियों ने इसकी तस्वीर सीरिया भेजी थी। इस मामले में तीन संदिग्ध आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया है। ये गिरफ्तारियां पिपरिया से हुई हैं।

शिवराज ने कहाः

“आतंकी लखनऊ और कन्नौज के थे। उन्हें अपने काम को अंजाम देकर लखनऊ ही लौटना था। “आतंकियों के पास जो एक्सप्लोजिव्स मिले हैं, उनपर लिखा है- आईएसआईएस- हम भारत में हैं।”

इससे पहले लखनऊ के ठाकुरगंज इलाके में में कई घंटे तक चली मुठभेड़ में उत्तर प्रदेश एटीएस ने ट्रेन धमाके में शामिल आतंकी को मार गिराया था।

घटनास्थल से भारी मात्रा में विस्फोटक, पिस्टल, गोलियां, चाकू, इस्लामिक स्टेट का झंडा बरामद किए गए हैं। यूपी ATS के मुताबिक यह IS का खुरासान मॉड्यूल था जिसके मंसूबों को नाकाम कर दिया गया।


Advertisement

मुठभेड़ में मारा गया आतंकवादी इस्लामिक स्टेट के खुरासन मॉड्युल से संबद्ध था।

भारत में सक्रिय है इस्लामिक स्टेट का खुरान मॉड्यूल

इराक और सीरिया में सक्रिय इस्लामिक स्टेट वर्ष 2020 तक भारत सहित दुनिया के कई देशों पर कब्जा करने की योजना बना रहा है। इसके लिए इस्लामिक स्टेट ने जो नक्शा बनाया है, उसमें स्पेन, पुर्तगाल और फ्रांस के हिस्से को अरबी में ‘अंदालुस’ नाम दिया गया है।

वहीं, भारत सहित एशिया के बड़े हिस्से को खुरासन नाम दिया गया है। यह इसलिए, क्योंकि ईरान के पूर्व आमू नदी के दक्षिण और हिंदूकुश के उत्तर स्थित विस्तृत भू-भाग का नाम खुरासान था। किंतु अब इस नाम का प्रयोग अत्यंत सीमित अर्थ में होता है। इस्लामिक स्टेट के प्रति झुकाव रखने वाले भारत के मुसलमान इसी मॉड्युल के तहत काम कर रहे हैं।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement