इस्लामिक स्टेट ने जारी किया महिला कैदियों से बलात्कार का फतवा

author image
4:07 pm 4 Jan, 2016

मध्यपूर्व में आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट की क्रूरता का कोई अंत नहीं दिख रहा है। कैदियों के साथ बर्बरता और अमानवीय व्यवहार के लिए कुख्यात हो चुके इस्लामिक स्टेट ने गुलाम महिलाओं के लिए फतवा जारी किया है।

इस फतवे में यह बताया गया है कि “महिला कैदियों के साथ कैसे बलात्कार किया जाए।”

इस खबर की पुष्टि हाल ही में उन दस्तावेज़ों के खुलासे से हुई है, जो मई में सीरिया में एक छापे के दौरान मिले थे। इस दस्तावेज़ में यह बताया गया है कि इस्लामिक स्टेट लोगों का व्यवहार महिला कैदियों के साथ कैसा होना चाहिए।

 


Advertisement

यह फतवा उनकी बेवजह मांगों के उल्लंघन के जवाब में है। इन कागजातों में इस्लामिक स्टेट के लोगों को स्पष्ट विवरण दिया गया है कि उनका बर्ताव गुलाम महिलाओं के मासिक धर्म चक्र के समय कैसा होना चाहिए। अगर गुलाम महिलाएं गर्भवती हैं या उनके अत्याचार से अगर कोई बेटी है, तो फतवे में इसके लिए बकायदा निर्देश हैं।

कुल मिला कर इस फ़तवे का उद्देश्य है की इस्लामिक स्टेट के लड़ाकों को यह सिखाया जा सके कि गुलाम महिला कैदियों से कैसे बलात्कार किया जाए।

इस्लामिक स्टेट इस्लाम के नाम पर क्रूरता की हदें पार करता रहा है, लेकिन यह फतवा बेहद घिनौना और अपमानजनक है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement