इस्लामिक स्टेट के निशाने पर हैं दिल्ली के मॉल्स और कुम्भ मेला

author image
Updated on 11 Jul, 2016 at 4:29 pm

Advertisement

मध्यपूर्व में आतंक का राज कायम करने वाले आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट का मॉड्यूल भारत में भी सक्रिय है। इसके निशाने पर हरिद्वार का अर्ध-कुम्भ मेला और दिल्ली के मॉल्स हैं। दिल्ली पुलिस के मुताबिक इस्लामिक स्टेट के चार सदस्य इराक और सीरिया में मौजूद अपने आकाओं के सम्पर्क में थे और वहां से निर्देश ले रहे थे।

19 से 23 वर्ष की उम्र के इन युवकों की गिरफ्तारी के बाद इस बात की पुष्टि हो गई है कि इस्लामिक स्टेट की मौजूदगी भारत में भी है। इनके नाम अखलाक उर रहमान, मोहम्मद ओसामा, अजीज और मेहराज बताए गए हैं। अखलाक रुड़की के एक पॉलिटेक्निक कॉलेज में थर्ड इयर का छात्र है, जबकि ओसामा और अजीज स्थानीय कॉलेज से बीए की पढ़ाई कर रहे हैं। वहीं, एक अन्य सदस्य मेहराज आयुर्वेदिक मेडिसीन की पढ़ाई कर रहा है।

रिपोर्टः इस्लामिक स्टेट के इन 21 क्रूर कानून के बारे में जानकर आपकी रूह कांप जाएगी।


Advertisement

करीब एक सप्ताह पहले अातंकवादी संगठन ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर की हत्या की धमकी दी थी। गोवा में पुलिस को मिले एक बेनामी चिट्ठी में बीफ बैन करने को लेकर प्रधानमंत्री और रक्षामंत्री के प्रति गुस्सा जाहिर किया गया है। बताया गया है कि इस पत्र पर आईएसआईएस लिखा हुआ है।

दिल्ली पुलिस के मुताबिक आईएसआईएस के ये सदस्य आतंकवादी वारदातों को अन्जाम देने के लिए हथियारों की खरीद के करीब थे। ये अपने आकाओं से फेसबुक और व्हाट्सएप के जरिए सम्पर्क में थे और निर्देश ले रहे थे। इन्हें नियमित तौर पर इस्लामिक स्टेट का मुखपत्र दबिक पढ़ने की सलाह दी गई थी। साथ इस आतंकवादी गुट के अन्य साहित्यों को भी पढ़ने की लिए कहा गया था।

रिपोर्टः इस्लामिक स्टेट ने जारी किया महिला कैदियों से बलात्कार का फतवा

इस्लामिक स्टेट के इन नए सदस्यों ने उन स्थानों की रेकी कर ली थी, जहां हमले को अन्जाम देना था। शुरूआती पूछताछ में उन्होंने यह स्वीकार कर लिया है कि उनके निशाने पर अर्ध-कुम्भ मेला था, क्योंकि यहां धमाके के बाद भगदड़ होने की संभावना थी, जिससे हताहतों की संख्या अधिक होती।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement