इराक में इस्लामिक स्टेट का आखिरी गढ़ ढहा, आजाद हुआ मोसुल

author image
Updated on 11 Jul, 2017 at 3:46 pm

Advertisement

इस्लामिक स्टेट के आतंक के सबसे बड़े गढ़ माने जाने वाले मोसुल शहर को इस्लामिक स्टेट के चंगुल से मुक्त करा लिया गया है। अब मोसुल इराकी सेना के कब्जे में है। आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट के लिए यह करारी हार है।

इराकी प्रधानमंत्री हैदर अल-आब्दी ने रविवार को ‘मुक्त’ कराये गए मोसुल में जीत की घोषणा की।  साथ ही उन्होंने इस जीत के लिए अपनी सेना को बधाई भी दी।

इराकी सेना ने मोसुल की सड़कों पर अपनी इस जीत का जश्न मनाया।

बता दें कि तीन साल पहले जिहादियों ने मोसुल पर कब्जा कर लिया था। आठ महीनों तक चले संघर्ष के बाद आखिरकार इस जीत का ऐलान हुआ है।

मोसुल को मुक्त कराने की इस जद्दोजहद में, आतंकियों द्वारा किए गए हमलों में हजारों आम नागरिक मारे गए। उधर भीषण युद्ध के कारण एक लाख से ज्यादा लोगों को अपने घरों को छोड़कर जाना पड़ा।

अातंकियों के हमले से इराक का यह प्राचीन शहर पूरी तरह खंडहर में तब्दील हो गया है।


Advertisement

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इराक के मोसुल शहर को इस्लामिक स्टेट से मुक्त कराने की प्रशंसा की। वहीं जीत के लिए इराकी प्रधानमंत्री हैदर अल अब्दी को बधाई दी।

ट्रंप ने एक बयान में कहा कि अमेरिका और वैश्विक गठबंधन के सहयोग से इराकी सुरक्षा बलों ने मोसुल शहर को आईएस के शासन से मुक्त करा लिया है। ट्रंप ने आगे कहा कि अमेरिका के नेतृत्व वाले वैश्विक गठबंधन ने कुछ ही महीनों में ही IS के खिलाफ जबर्दस्त बढ़त हासिल की है। मोसुल में जीत इस बात का संकेत है कि अब आईएस के इराक और सीरिया में गिने चुने दिन बचे है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement