अंगारों पर चलीं महिला IPS और अन्य पुलिस अधिकारी, जानिए क्यों

author image
Updated on 16 Sep, 2016 at 1:45 pm

Advertisement

अंधविश्वास के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए महिला IPS और अन्य पुलिस अधिकारी अंगारों पर चले। यह वाकया छत्तीसगढ़ के मुंगेली जिले के भटगांव का है।

जिला पुलिस अधीक्षक नीतू कमल लोगों को यह दिखाना चाहती थीं कि दहकते अंगारों पर नंगे पांव चल कर बच जाने की पीछे की क्या वैज्ञानिकता है। और इस घटना का जादू-टोना से कोई वास्ता नहीं है।


Advertisement

भटगांव में प्रशासन ने अंधविश्वास के खिलाफ जागरूकता के लिए आयोजित कार्यक्रम का आयोजन किया था। इसमें आला पुलिस अधिकारियों के साथ ही अन्य प्रशासनिक अधिकारी भी मौजूद थे।



दहकते अंगारों पर नंगे पैर चलने के बाद पुलिस अधीक्षक नीतू कमल ने बताया कि उन्होंने पहले अपने पैरों को पानी से गीला कर लिया था और बाद में अंगारों पर तेजी से चलते हुए गुजरीं, इसलिए उनके पैर नहीं जले।

नीतू का कहना था कि इसी तकनीक को अपना कर लोग जादू टोना का छलावा करते हैं।

इस कार्यक्रम में कुछ अन्य चीजों के बारे में जानकारी दी गई, ताकी लोगों का भ्रम दूर हो सके। इस बात पर जोर दिया गया कि यह सिर्फ विज्ञान है।

इस अवसर पर कार्यक्रम में मौजूद कार्यकर्ता डॉ प्रकाश धोटे ने कहा कि कपूर को हाथ में जलाना, त्रिशूल से जीभ को छेदना, गिलास से गंगाजल निकालना आदि सारे चमत्कार ट्रिक्स पर आधारित हैं।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement