काशी में ‘अंतर्राष्ट्रीय बुद्धिस्ट कॉन्क्लेव’, 40 देशों के 350 बौद्ध प्रतिनधि ले रहे हैं हिस्सा

author image
Updated on 3 Oct, 2016 at 9:54 pm

Advertisement

मोदी सरकार दुनिया के नक्शे पर भारतीय कल्चर व पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए हर तरह के प्रयासों में जुटी हुई है। इसी के मद्देनजर 5 अक्टूबर तक वाराणसी में होने वाले अंतर्राष्ट्रीय बुद्धिस्ट कॉन्क्लेव की शुरुआत हो चुकी है।

केंद्र सरकार के पर्यटन मंत्रालय द्वारा उत्तर प्रदेश के वाराणसी जिले में अंतर्राष्ट्रीय बुद्धिस्ट कॉन्क्लेव का आयोजन किया गया है। इस कॉन्क्लेव में देश ही नहीं, बल्कि 40 देशों के 350 से ज्यादा बौद्ध प्रतिनिधि हिस्‍सा ले रहे हैं।

पर्यटन को बढ़ावा देने के लिहाज से इस कार्यक्रम को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है।


Advertisement

इस आयोजन में श्रीलंका, नेपाल, म्यांमार, बांग्लादेश, भूटान, तिब्बत, कंबोडिया, वियतनाम, चीन, जापान, सिंगापुर, मलेशिया, हांगकांग, थाइलैंड, लाओस, इंडाेनेशिया, ताइवान, मंगोलिया, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, ब्राजील, यूरोप, रूस, अफ्रीका व अमेरिका जैसे देशों से बौद्ध अनुयायी अपनी उपस्थिति दर्ज कराएंगे।

इस कार्यक्रम का उद्देश्य भारत को बाैद्ध धर्म की जन्मस्थली के तौर पर स्थापित करना भी है।

आपको बता दें कि चीन बौद्ध धर्म की प्राचीन विरासत पर अपनी दावेदारी पेश करता है। इस लिहाज से भी भारत सरकार के इस कदम को महत्वपूर्ण माना जा रहा है। भारत दुनिया के सामने यह प्रमाण रखना चाहता है कि बौद्ध धर्म की भारत की धरती पर विरासत और परंपराएं कितनी गहरी और विस्तृत हैं।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement