बेटी की शादी ईसाई से कर दी तो मस्जिद कमेटी ने पूरे परिवार का बहिष्कार कर दिया

Updated on 25 Oct, 2017 at 12:55 pm

Advertisement

केरल में एक मुस्लिम व्यक्ति ने अपनी बेटी की शादी ईसाई परिवार के लड़के के साथ तय कर दी तो स्थानीय मस्जिद कमेटी ने उसके पूरे परिवार का बहिष्कार कर दिया। मस्जिद कमेटी का कहना है कि उस व्यक्ति ने ईसाई से शादी करवाने का गलत फैसला किया है।

कुनुमुमल यूसेफ ने अपनी बेटी जसीला की शादी टिस्को टोमी से करवाने का फैसला लिया था। दोनों ने इसी महीने की 19 अक्टूबर को शादी रजिस्टर करवाई थी।

द न्यूज मिनट की रिपोर्ट के मुताबिक, यूसेफ के खिलाफ 18 अक्टूबर को मस्जिद कमेटी ने एक सर्कुलर जारी किया था जिसमें कहा गया था कि कमेटी को कोई भी सदस्य उनके परिवार की मदद न करे।

यह सर्कुलर कुछ इस तरह है।


Advertisement

मलयाली में लिखे इस सर्कुलर के मुताबिकः

“हमने फैसला लिया है कि कोई भी व्यक्ति यूसुफ और उसके परिवार से न ही मस्जिद से जुड़े किसी काम में और न ही किसी अन्य मामले में किसी भी तरह का संबंध रखेगा।”

यूसेफ की बेटी जसीला ने 20 अक्टूबर को स्पेशल मैरिज एक्ट के तहत टिस्को टॉमी से शादी कर ली थी। इसके एक दिन बाद परिवार ने पेरिंथलमन्ना में दोनों की शादी का रिसेप्शन रखा था। यह शादी न तो मुस्लिम रीति-रिवाजों से हुई और न ही ईसाई धर्म के अनुसार हुई।

जसीला के अंकल राशिद ने शादी की खबर फेसबुक के जरिए दी।

फेसबुक पोस्ट में राशिद लिखते हैंः

“जसीला को पूरा हक है कि वह किससे शादी करना चाहती है। जसीला और टिस्को की शादी पहली नहीं है जो गैर-धार्मिक है। क्या मस्जिद समय के साथ बदल रही लहरों को बदल पाएगा।”

द न्यज मिनट ने राशिद के हवाले से लिखा है कि महाल्लु कमिटी ने जो फैसला लिया है वह केवल कमिटी के कुछ सदस्यों का है। इससे लोगों के भाव पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement