इंडोनेशिया की ये रहस्यमयी झीलें समय-समय पर बदलती है रंग, पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र

Updated on 21 Aug, 2018 at 3:20 pm

Advertisement

अगर आप ट्रैवलिंग के शौकीन हैं और विदेशों की सैर करना पसंद करते हैं तो एशिया के सबसे खूबसूरत महाद्वीप इंडोनेशिया को अपनी ट्रिप में जरूर शामिल करें। यह देश कई अलग-अलग सभ्यताओं से तो समृद्ध है ही, इसके अलवा भी यहां बहुत से ऐसे प्राकृतिक दृश्य हैं जो पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करते है। इंडोनेशिया कई दहकते पर्वतों से घिरा हुआ है, इन्हीं पर्वतों में एक खास स्थान है केलीमुतु, जहां तीन झीलें एक दूसरे के आस-पास मौजूद है। खास बात ये है कि मौसम में बदलाव के साथ ही इन तीनों झीलों के रंग में भी बदलाव आता रहता है।

 

 


Advertisement

वर्षो से केलीमुतु की झीलें सैलानियों और भू-वैज्ञानिकों को अपनी ओर आकर्षित करती रही हैं।  प्राकृतिक रूप से निर्मित ये तीनों झीलें एक-दूसरे के आस पास  ही हैं। पहली झील का नाम  Tiwu Ata Mbupu (TAM) हैं, जिसे वहां के लोग बुर्जुगों की झील के नाम से जानते हैं।

 

 

दूसरी झील Tiwu Ko’o Fai Nuwa Mur (tin) के नाम से प्रख्यात है, इसे युवाओं की झील भी कहा जाता है। तीसरी झील का नाम  Tiwu Ata Polo (TAP) है। माना जाता है कि इन रहस्यमयी झीलों के नाम स्थानीय लोक कथाओं से पड़े हैं।

 



एक खास वजह जिसके चलते पर्यटकों के बीच ये झीलें काफी लोकप्रिय हैं, वो है मौसम के साथ झीलों का बदलता रंग। हर बार जब सैलानी इस झील को देखने पहुंचते हैं तो उन्हें खुद मालूम नहीं होता कि इस बार झील का रंग कैसा होगा।

 

इंडोनेशिया पर्यटन विभाग के मुताबिक झीलों में ज्वालामुखी और रासायनिक रिएक्शन की वजह से उनका रंग समय-समय पर बदलता रहता है। हालांकि, भू-वैज्ञानिक इस तर्क को नहीं मानते। झीलों के बदलते रंग पर अब तक कई शोध हो चुके हैं, तो वहीं भविष्य में कई शोध होने अभी बाकी हैं।

 

 

दुनियाभर से पर्यटक इन झीलों को देखने के लिए इंडोनेशिया पहुंचते हैं। ज्यादातर पर्यटक झील को देखने के लिए जुलाई और अगस्त माह में ही आते है, झीलों को देखने के लिए ये समय सबसे उपयुक्त माना जाता है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement