1965 युद्ध: ये कहानी है असीम वीरता की, गाथा है अमर बलिदान की

author image
Updated on 14 Oct, 2015 at 12:59 pm

Advertisement

Advertisement

यह कथा ऐसे योद्धाओं की है, जिन्होंने बिना झिझके अपने देश के लिए अपने प्राण न्यौछावर कर दिए। यह कथा एक ऐसे देश की है जो संकट के समय एकजुट हुआ। कच्छ के रण से लेकर कश्मीर की घाटियों तक और पंजाब की सीमाओं तक, 1965 में पाकिस्तान ने भारत पर चौतरफा हमले किए थे, जिसका जवाब देश के रणबांकुरों ने बखूबी दिया था। कोई भी भारतीय आन-बान और शान की इस कहानी को नजरअंदाज नहीं कर सकता।

साभार: ADGPI-INDIAN ARMY

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement