श्रीकांत जिचकर को मिली थी भारत के सबसे शिक्षित व्यक्ति की उपाधि, हासिल की थी कई डिग्रियां

author image
Updated on 2 Mar, 2016 at 6:12 pm

Advertisement

हम अक्सर देखते हैं कि कुछ लोग एक ही विषय या क्षेत्र में अपनी लगन लगाते हैं, लेकिन दिवगंत श्रीकांत जिचकर इससे परे है। 14 सितंबर, 1954 को जन्में श्रीकांत जिचकर को भारत में सबसे अधिक शिक्षित व्यक्ति ( द मोस्ट क्वालिफाइड पर्सन ऑफ़ इंडिया) की उपाधि प्राप्त है। वह उनमे से हैं, जिन्होंने अपनी पूरी ज़िन्दगी में अधिकतर ज्ञान हासिल किया और डिग्रियां लीं।

1. श्रीकांत भारत में ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया में कई डिग्रियां हासिल कर अब तक के सबसे अधिक शिक्षित व्यक्ति बने।

Shrikant Jichkar

2. श्रीकांत का नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज है।

Shrikant Jichkar

3. श्रीकांत ने डॉक्टरी (MBBS) से अपनी डिग्री की शुरुआत की। बाद में उन्होंने डॉक्टर ऑफ़ मेडिसिन (MD) की डिग्री हासिल की। फिर यह सिलसिला चलता ही गया। उन्होंने बैचलर ऑफ़ लॉज़ (LL.B.) करने के साथ-साथ इंटरनेशनल लॉ (LL.M.) में पोस्ट ग्रैजुएशन भी किया। उनके पास बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन में मास्टर की डिग्री और जर्नलिज्म की डिग्री भी थी।

Shrikant Jichkar


Advertisement

4. उन्होंने दस अलग-अलग विषयों में एम.ए की डिग्री भी हासिल की हुई थी, जिसमें  M.A. (पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन), M.A. (अर्थशास्त्र), M.A. (समाजशास्त्र), M.A. (संस्कृत), M.A. (अंग्रेजी साहित्य), M.A. (इतिहास), M.A. (दर्शनशास्त्र), M.A. (प्राचीन भारतीय इतिहास तथा संस्कृति), M.A. (राजनीति विज्ञान) और M.A. (मनोविज्ञान) है। साथ में उन्होंने संस्कृत भाषा में ‘डॉक्टर ऑफ़ लेटर्स’ की डिग्री भी हासिल की।

Shrikant Jichkar

5. श्रीकांत जिचकर ने 1973 से 1990 तक 42 यूनिवर्सिटीज में परीक्षाएं दी और हर परीक्षा में उन्होंने हाई रैंक हासिल की।

Shrikant Jichkar

6. श्रीकांत ने महज़ 25 साल की उम्र में साल 1978 में IPS की परीक्षा दी, जिसमें वह सफल रहे। लेकिन इसके बावजूद कुछ समय बाद उन्होंने IAS परीक्षा की तैयारी करने के लिए IPS पद से इस्तीफा दे दिया।

Shrikant Jichkar

7. 1980 में श्रीकांत ने अपना पहला चुनाव लड़ा। जिसके साथ ही वह महाराष्ट्र असेंबली में सबसे कम उम्र के MLA बन गए।

Shrikant Jichkar

8. महाराष्ट्र विधानसभा में सबसे कम उम्र के MLA बनने के साथ ही उनके पास एक समय में 14 विभाग थे।

Shrikant Jichkar



9. महाराष्ट्र विधानसभा में चुने जाने से पूर्व श्रीकांत जिचकर, नागपुर यूनिवर्सिटी स्टूडेंट काउंसिल के अध्यक्ष पद पर कार्यरत रहे।

Shrikant Jichkar

10. श्रीकांत जिचकर को किताबें पढ़ने का बहुत शौक था। उनके पास 52 हजार से भी ज़्यादा किताबों की एक अपनी निजी लाइब्रेरी थी।

Shrikant Jichkar

11. श्रीकांत बहुमुखी प्रतिभा के धनी तो थे ही साथ में एक माहिर चित्रकार, प्रोफेशनल फोटोग्राफर और एक बेहतरीन स्टेज एक्टर भी थे।

Shrikant Jichkar

12. जिचकर जब महाराष्ट्र की राज्य सरकार में मंत्री पद पर नियुक्त थे, उसी दौरान वह राज्यसभा के सदस्य भी थे।

Shrikant Jichkar

13. 1992 से 1998 तक वह राज्य सभा के सदस्य के रूप में नियुक्त रहे।

Shrikant Jichkar

14. श्रीकांत जिचकर एक अच्छे वक्ता भी थे। उन्हें कई राज्यों में अर्थशास्त्र, स्वास्थ्य, तथा धार्मिक कट्टरता से जुड़े विषयों में वार्ता करने के लिए बुलाया जाता था।

Shrikant Jichkar

15. एक सड़क दुर्घटना में 51 साल की उम्र में जिचकर का निधन हो गया था। 2 जून, 2004 को जिचकर की मौत नागपुर से सात किलोमीटर दूर कुंडली के पास एक बस से उनकी कार टकराने के कारण हुई थी।

Shrikant Jichkar

फोटो साभार: स्पीकिंग ट्री


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement