भारत की ये 3 बेटियां उड़ाएंगी सुखोई और तेजस, एयर फोर्स की फाइटर स्क्वॉड्रन में हुईं शामिल

author image
Updated on 18 Jun, 2016 at 3:37 pm

Advertisement

यह भारत की बेटियों के लिए नया इतिहास लिखने का वक्त है। तीन बेटियां फ्लाइंग कैडेट्स भावना कांत, अवनी चतुर्वेदी और मोहना सिंह को शनिवार को भारतीय वायु सेना के फाइटर स्क्वॉड्रन में शामिल कर लिया गया।

इसके साथ ही ये बेटियां ऐसी पहली महिला पायलट्स बन गईं हैं, जो युद्ध के मैदान में फाइटर जेट्स लेकर जा सकेंगी।

हैदराबाद के हकीमपेट में इनकी पासिंग आउट परेड हुई। इस अवसर पर रक्षा मंत्री मनोहर पर्रीकर मौजूद थे।


Advertisement

एयरफोर्स प्रमुख अरूप राहा पहले ही कह चुके हैं कि इन महिलाओं को फोर्स की जरूरत के हिसाब से तैनात किया जाएगा। इन्हें महिला होने की कोई रियायत नहीं मिलेगी।

गौरतलब है कि सेना में सीमा पर जंग जैसे हालात में महिलाओं को भेजने की इजाजत नहीं है। सेना में अधिकतर महिलाएं प्रशासनिक, चिकित्सा और शिक्षा विंग में काम करती हैं। यह पहली बार है जब महिलाएं फाइटर जेट उड़ाकर युद्ध के मैदान तक पहुंचेंगी।

वर्ष 2017 में ये बेटियां पूरी तरह फाइटर पायलट बन जाएंगी। इनकी एक साल की एडवांस ट्रेनिंग कर्नाटक के बीदर में होगी।

बताया गया है कि इन तीनों पायलट्स का प्रशिक्षण हैदराबाद एयरफोर्स एकेडमी में हुआ था।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement