अब लोकतक झील पर खुल गया है भारत का पहला तैरता स्कूल

author image
Updated on 24 Feb, 2017 at 5:13 pm

Advertisement

हमनें कई बड़े-बड़े स्कूल देखे हैं, लेकिन यह एक स्कूल ख़ास है। मणिपुर स्थित साफ पानी की लोकतक झील में देश का पहला तैरता हुआ प्राथमिक स्कूल खुल गया है।

यह मणिपुर की राजधानी इंफाल से करीब 50 किलोमीटर दूरी पर स्थित है।

‘लोकतक फ्लोटिंग एलिमेंट्री स्कूल’ नाम से खोले गए इस प्राथमिक स्कूल का उद्देश्य ऐसे बच्चों को शिक्षा देना है जो  बेसहारा और बेघर हैं। इस स्कूल में सिर्फ बच्चे ही नहीं, बल्कि ऐसे युवाओ को भी पढ़ाया जाता है, जिन्हें किसी कारणवश बीच में ही अपनी पढ़ाई छोडनी पड़ी।

इस तैरते हुए स्कूल में एक समय में 25 बच्चों की पढ़ने की व्यवस्था है। इन्हें पढाने के लिए दो शिक्षक हैं।

जिस लोकतक झील पर इस तैरते हुए स्कूल को बनाया गया है उसके आस-पास मछुआरों के कई परिवार रहते हैं। उनके पास इतना पैसा नहीं होता कि वे अपने बच्चों को पढाई के लिए किसी शहरी स्कूल भेज सकें। ऐसे में यह स्कूल उन परिवारों के बच्चों के लिए एक उम्मीद की किरण बनकर आया है।


Advertisement

ये फ्लोटिंग स्कूल लोकतक झील के मछुआरा यूनियन और समाज सेवी संस्था पीपल रिसोर्स डेवलपमेंट एसोसिएशन (PRDA) की पहल और योगदान से शुरू किया गया है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement