इस भारतीय ‘चायवाली’ की दुनिया हुई दीवानी, जानिए क्यों

author image
Updated on 3 Nov, 2016 at 5:38 pm

Advertisement

26 वर्षीय भारतीय महिला वकील उपमा विर्दी इन दिनों चर्चा में हैं। उनकी चर्चा कोर्ट-कचहरी या किसी मामले को लेकर नहीं, बल्कि चाय बेचने को लेकर हो रही है।

जी हां, ऑस्ट्रेलिया ही नहीं, अब दुनियाभर में वह ‘चायवाली’ के नाम से मशहूर हो रही हैं। उन्हें हाल ही में ऑस्ट्रेलिया की ‘बिजनेसवुमन ऑफ द ईयर’ अवार्ड से नवाजा गया है।

उपमा ‘चायवाली’ नाम से चल रहे सफल टी-रिटेल बिजनेस की संस्थापिका हैं।

चंडीगढ़ में जन्मीं उपमा, वकालत की पढ़ाई करने ऑस्ट्रेलिया गई थी। लेकिन चाय के प्रति उनके प्रेम ने उन्हें कुछ लीक से हटकर करने को प्रेरित किया और वह ‘चायवाली’ बन गई।

पहले तो माता-पिता उनके इस फैसले के खिलाफ थे, लेकि बाद में उन्हें पता चला कि उपमा वाकई कुछ हटके कर रही हैं।

उपमा का कहना है कि भारतीय चाय का स्वाद दुनिया के बाकी देशों की चाय से अलग है। हम भारतीय चाय को और स्वादिष्ट बनाने के लिए उसमें इलायची, लौंग तथा कई तरह की बूटियों का इस्तेमाल करते हैं।

अब अपनी मेहनत की बदौलत उपमा को इंडियन ऑस्ट्रेलियन बिजनेस कम्युनिटी अवॉर्ड में उन्हें ‘बिजनेसवुमन ऑफ द इयर’ के खिताब से नवाजा गया।

jansatta

jansatta


Advertisement

Tags

आपके विचार


  • Advertisement