रेलवे के बारे में वायरल हो रही यह झूठी खबर सबूत है कि सोशल मीडिया में चल रही हर खबर सच नहीं होती

author image
Updated on 19 Feb, 2017 at 6:08 pm

Advertisement

सोशल मीडिया में चल रही या वायरल हो रही हर खबर सच हो, इस बात की कोई गारंटी नहीं है। ऐसे लोगों की भी कमी नहीं है जो सोशल मीडिया का जमकर दुरुपयोग कर रहे हैं।

पिछले कुछ दिनों से फेसबुक, व्हाट्सएप और ट्वीटर पर इस तरह की खबर वायरल हो रही थी कि विशाखापत्तनम से हावड़ा जा रही यशवंतपुर-हावड़ा एक्सप्रेस में यात्री को दिए गए भोजन के लिए अतिरिक्त पैसे वसूले गए। यह कथित रूप से किसी शिवेन्द्र कुमार सिन्हा नामक रिटायर्ड आईएएस अधिकारी पोस्ट की गई थी।

यह रही वायरल हो रही खबर।

अब भारतीय रेल ने अपनी जांच में पाया है कि यह खबर झूठी है। रेलवे ने कहा है कि भारतीय सिविल सेवा में इस नाम का कोई अधिकारी कभी नहीं रहा है। साथ ही वायरल हो रही तस्वीर दरअसल शताब्दी एक्सप्रेस की है।


Advertisement

इससे यह साबित होता है कि सोशल मीडिया पर बिना समझे-बूझे किसी पोस्ट को लाइक या शेयर करना उचित नहीं हो सकता।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement