भारतीय रेल ने महज सात घंटे में नया पुल बनाकर दौड़ा दी ट्रेन

4:32 pm 4 Jan, 2018

Advertisement

भारतीय रेल के नाम कई रिकॉर्ड दर्ज हैं। करीब 60 हजार किलोमीटर के नेटवर्क पर 11 हजार ट्रेनें प्रतिदिन दौड़ती हैं। वहीं, पूरे भारतीय रेल में करीब डेढ़ करोड लोग काम करते हैं। फोर्ब्स के मुताबिक, भारतीय रेल दुनिया की 7वीं सबसे बड़ी नियोक्ता सेवा कंपनी है।

अब भारतीय रेल ने अपने नाम एक और रिकॉर्ड दर्ज कर लिया है।

दरअसल, चर्चा रेलवे के इंजीनियरिंग विभाग की हो रही है। इस विभाग ने महज सात घंटे में करीब सौ साल पुराने पुल को तोड़कर उसकी जगह नया बना दिया। यही नहीं, इस पुल पर ट्रेन भी दौड़ा दी, जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है।


Advertisement

इस रिपोर्ट के मुताबिक, नजीबाबाद-मुरादाबाद के बीच बुंदकी स्टेशन के पास डाउन लाइन पर पुल सौ साल से अधिक पुराना हो गया था। यह पुल अति जर्जर अवस्था में था। इस पर ट्रेनों को बेहद धीमी गति से गुजारा जा रहा था।

बुधवार की सुबह 9.35 बजे प्रवर मंडल अधीक्षण अभियंता प्रथम पारितोष गौतम तकनीकी स्टाफ के साथ वहां पहुंचे। दोपहर करीब डेढ़ बजे तक इस पुराने पुल को तोड़ दिया गया और मलबा हटा दिया गया। वहीं, बाद में फैब्रिकेटिंग मैटेरियल से पुल का निर्माण शुरू कर दिया गया और दोपहर 3 बजे तक पुल का ढांचा रख दिया गया।

FranchiseIndia सांकेतिक तस्वीर। 

सात घंटे 20 मिनट में (शाम 5.15 बजे) नए पुल पर लाइन डालने का काम भी पूरा कर लिया गया। इस दौरान लक्सर-मुरादाबाद के बीच रेल यातायात बंद रहा।

काम खत्म होने पर शाम 5.40 बजे देहरादून से इलाहाबाद जाने वाली लिंक एक्सप्रेस को धीमी गति से नए पुल से होकर चलाया गया। इसके बाद अन्य ट्रेनों का भी निकालना शुरू कर दिया गया।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement