चैम्पियंस ट्रॉफी हॉकी के फाइनल में पहुंचकर भारत ने रचा इतिहास

author image
6:15 pm 17 Jun, 2016

Advertisement

भारतीय हॉकी टीम ने प्रतिष्ठित चैंपियंस ट्रॉफी हॉकी में इतिहास रचते हुए पहली बार फाइनल में अपनी जगह बना ली है। अब शुक्रवार को होने वाले फाइनल मुकाबले में भारत ऑस्ट्रेलिया से भिड़ेगा।

Indian Hockey Team

पीआर श्रीजेश के नेतृत्‍व वाली भारतीय हॉकी टीम ने दुनिया की शीर्ष छह टीमों के बीच खेली जाने वाली 1978 में शुरू हुई इस प्रतियोगिता में पहली बार फाइनल में अपना स्थान बनाया है।

लीग में भारत अपने आखिरी मैच में ऑस्ट्रेलिया से 4-2 से हार गया, लेकिन फिर भी प्वाइंट्स टेबल में 7 अंक लेकर भारत फ़ाइनल में पहुंच गया। दरअसल लीग के एक दूसरे मैच में बेल्जियम और मेजबान ग्रेट ब्रिटेन के बीच खेला गया मैच 3-3 से ड्रॉ हो गया जिसके चलते भारत ने पहली बार चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में जगह बना ली।

Table point


Advertisement

 

इससे पहले भारतीय हॉकी टीम ने करीबन 34 साल पहले 1982 में इसी प्रतियोगिता में नीदरलैंड्स को हराकर कांस्य पदक जीता था।

अगर चैंपियंस ट्रॉफी में दोनों टीमों के प्रदर्शन की बात करें तो चैम्पियंस ट्रॉफी के इतिहास में दोनों ही टीमें 14 बार एक दूसरे से भिड़ी हैं, जिनमें 10 बार ऑस्ट्रेलिया, दो बार भारत ने जीत अपने नाम दर्ज की है और 2 मैच ड्रॉ रहे हैं।

India Australia

भारत के लिए 13 बार की चैम्पियन ऑस्ट्रेलिया को हराना आसान नहीं होगा, लेकिन एक लंबे अंतराल के बाद फाइनल तक पहुंचना यकीनन भारतीय खिलाड़ियों में फाइनल मैच में जीत के बुलंद हौसलों के साथ उतरने में मददगार होगा।

वहीं अगस्त में खेलों के महाकुंभ रियो ओलिंपिक के पहले भारत का यह बढ़िया प्रदर्शन उनके मनोबल को मजबूती देगा।

आपको बता दें कि भारत अंतिम बार हॉकी का स्वर्ण पदक, 1980 के मॉस्को ओलिंपिक में जीतने में कामयाब रहा था।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement