500 हेलीकॉप्टर, 220 लड़ाकू विमान और 12 पनडुब्बियां खरीदेगा भारत

author image
Updated on 25 Aug, 2016 at 12:17 pm

Advertisement

देश को एक महान सैन्य शक्ति बनाने के मकसद से भारत अगले एक दशक में 223 अरब डॉलर (15 लाख करोड़ रुपये) नए हथियारों की खरीद पर खर्च करेगा।

weapon

एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, इन हथियारों में 500 हेलीकॉप्टर, 15 पनडुब्बियां, सिंगल इंजन वाले करीब 100 लड़ाकू विमान, दो इंजन वाले 120 से अधिक लड़ाकू विमान और विमान-वाहक पोत शामिल हैं।

भारतीय सेना की इस आधुनिकीकरण योजना का जिक्र साल 2012 से 2027 के लिए तैयार किए गए मध्यम अवधि के रोडमैप ‘दीर्घकालिक एकीकृत परिप्रेक्ष्य योजना’ में किया गया है।

weapon

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि यह पहला मौका है जब रक्षा मंत्रालय को सेना, नौसेना और वायु सेना के आधुनिकीकरण के लिए विस्तृत वित्तीय आकलन तैयार करने को कहा गया है।

मंत्रालय के एक अनुमान के अनुसार, रक्षा खरीद बजट में 8% की सालाना वृद्धि दर्ज की गई है।


Advertisement

weapon



रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर ने अपने मंत्रालय से अगले दशक के दौरान हथियारों के आधुनिकीकरण की अनुमानित लागत पर काम करने को भी कहा है।

अप्रैल 2016- मार्च 2017 के मौजूदा वित्त वर्ष में मंत्रालय रक्षा खरीद पर करीब 12.68 अरब डॉलर यानि कि 86,340 करोड़ रुपए खर्च करेगी।

weapon

रक्षा मंत्रालय हेलिकॉप्टरों, पनडुब्बियों, लड़ाकू विमानों, युद्धपोतों और विमान वाहक पोतों का निर्माण ‘मेक इन इंडिया’ के तहत करने की योजना में है।

weapon

करीबन 13 लाख से अधिक सक्रिय सुरक्षाबलों की ताकत के साथ, भारतीय सेना दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी सैन्य शक्ति है और दुनिया की सबसे बड़े स्वयंसेवक सेना है, जहां स्वेच्छा से लोग देश की सुरक्षा में भाग लेते हैं।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement