रक्षामंत्री को दिया प्रस्ताव, पाठ्यपुस्तकों में हो भारतीय सेना की वीर गाथाएं

author image
6:02 pm 8 May, 2016

Advertisement

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, साहित्य अकादमी पुरस्कार विजेता लेखक दत्ता डी नाईक ने, रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर के समक्ष पाठ्यपुस्तकों में, भारतीय सेना की वीर गाथाओं को जोड़ने का प्रस्ताव रखा है।

Indian Army

इस प्रस्ताव में नाईक ने देश भर के साहित्य अकादमी पुरस्कार विजेताओं के एक समूह को सैन्य ठिकानों पर जाने और गोपनीयता बनाए रखते हुए जवानों के इंटरव्यू लेने की अनुमति मांगी है।

इस प्रस्ताव में सेना के अधिकारियों और जवानों के लिए गए इंटरव्यू को कहानियों, संवाद लेखन और लघु कथाओं के रूप में स्कुल और कॉलेज के पाठ्यपुस्तकों में शामिल किए जाने की बात कही गई है।

School children


Advertisement

नाईक ने इस प्रस्ताव की कॉपी केंद्रीय मानव संसाधन विकास (एचआरडी) मंत्री स्मृति ईरानी के साथ ही साहित्य अकादमी के अध्यक्ष को भी भेजी है।

नाईक का मानना है कि इस तरह के कदम से देशभक्ति के भाव को बढ़ाने में मदद मिलेगी साथ ही यह देश के युवाओं को भारतीय सेना में शामिल होने के लिए भी प्रोसाहित करेगा।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement