परमाणु क्षमता से लैस अग्नि-5 का हुआ सफल परीक्षण, पाक और चीन की उड़ी नींद

author image
Updated on 28 Dec, 2016 at 8:47 pm

Advertisement

भारत ने स्वदेश में विकसित परमाणु क्षमता से लैस बैलिस्टिक मिसाइल ‘अग्नि-5’ का ओड़िशा के व्हीलर द्वीप से सफल परीक्षण किया है।5000 किमी तक वार करने में सक्षम यह मिसाइल पाकिस्तान, चीन और यूरोप तक निशाना साध सकती है।

सतह से सतह पर मार करने वाली अग्नि-5 के तीन परीक्षण पहले भी हो चुके हैं। पहला परीक्षण 19 अप्रैल 2012 को किया गया था, जबकि दूसरा परीक्षण 15 सितंबर 2013 वहीं तीसरा परीक्षण 31 दिसंबर 2015 को  किया गया था। कुछ और परिक्षण के बाद जल्द ही इस मिसाइल को भारतीय सेना में शामिल कर लिया जाएगा।

17 मीटर लंबी, दो मीटर चौड़ी, तकरीबन 50 टन वजनी इस मिसाइल को आसानी से डिटेक्ट नहीं किया जा सकता है।



अग्नि श्रृंखला की अन्य मिसाइलों के विपरीत ‘अग्नि-5’ सर्वाधिक आधुनिक तकनीकों से लैस मिसाइल है। नैविगेशन और मार्गदर्शन के मामले में इसमें कुछ नयी प्रौद्योगिकियों को शामिल किया गया है।

भारत को इसी साल 35 देशों वाले मिसाइल टेक्नोलॉजी कंट्रोल रिजीम (एमटीसीआर) ग्रुप में एंट्री मिली थी। इस ग्रुप में प्रवेश मिलने के बाद अग्नि-5 का ये पहला परिक्षण है। आपको बता दे कि यह रिजीम 35 देशों का एक समूह है जो परमाणु हथियारों के लिए वितरण प्रणाली के विस्तार पर निगरानी रखता है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement