10 साल बाद फाइनल में भारत-पाक, विदेशी धरती पर एक बार फिर भारत दोहराएगा इतिहास

author image
Updated on 17 Jun, 2017 at 6:05 pm

Advertisement

18 जून को इंग्लैंड के एजबेस्टन के बर्मिंघम में भारत बनाम पाकिस्तान फाइनल मुकाबले का इंतजार खेल प्रेमियों को बेसब्री से है। यह ऐसा मौका होगा जब ये दोनों टीमें 10 साल बाद किसी आईसीसी टूर्नामेंट के फाइनल में दूसरी बार आमने-सामने होंगी।

इससे पहले ये दोनों टीमें दक्षिण अफ्रीका में हुए आईसीसी टी-20 वर्ल्डकप के फाइनल में एक दुसरे से भिड़ी थी। वह मैच कोई कैसे भूल सकता है, जिसमें टीम इंडिया ने अपने चीर प्रतिद्वंदी पाकिस्तान को धूल चटाई थी।

उस फाइनल मुकाबले में भारत ने पहले बल्लेबाज करते हुए 157 रन बनाए थे। मैच में गौतम गंभीर ने 54 गेंदों पर 75 रनों की अहम पारी खेली थी।

India

sportskeeda


Advertisement

पाकिस्तान जब बल्लेबाजी करने उतरी तो उस आखिरी ओवर का रोमांच आज तक जहन में  ताजा है, जब क्रीज में मिस्बाह-उल-हक थे। पाकिस्तान को जीत के लिए 6 गेंदों में 13 रन चाहिए थे। भारत की ओर से गेंद जोगिन्दर शर्मा के हाथों में थमाई गई।

जोगिन्दर शर्मा की पहली बॉल वाइड हो गई, अब पाकिस्तान को 6 गेंदों में 12 रन बनाते थे। फिर मिस्बाह-उल-हक ने एक छक्का जड़ा। अब जीत के लिए पाकिस्तान को 4 गेंद पर 6 रन चाहिए थे। वहीं भारत को जीत के लिए एक विकेट की दरकार थी।

मिस्बाह ने अगली गेंद पर एक और बड़ा शॉट जड़ना चाहा, लेकिन मिस्बाह अपना कैच एस श्रीसंत को थमा बैठे और इस तरह से भारत ने आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप अपने नाम कर लिया।

तब से लेकर अब तक दोनों देशों के बीच कोई भी आईसीसी टूर्नामेंट का फाइनल नहीं खेला गया है। 10 साल बाद ये पहला मौका है जब आईसीसी टूर्नामेंट के फाइनल में भारत और पाकिस्तान की टीमें एक दूसरे को चुनौती देंगी।

वहीं आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी में ये पहली बार होने जा रहा है, जब फाइनल में भारत और पाकिस्तान की टीमें भिड़ेंगी।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement