सार्क सम्मेलन में हिस्सा नहीं लेंगे मोदी; बांग्लादेश, भूटान, अफगानिस्तान का भी इनकार

author image
Updated on 28 Sep, 2016 at 10:53 am

Advertisement

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सार्क शिखर सम्मेलन में हिस्सा नहीं लेने का फैसला किया है। केन्द्र सरकार ने ऐलान किया है कि ‘मौजूदा हालात में भारत सरकार इस्लामाबाद में प्रस्तावित शिखर सम्मेलन में भाग लेने में असमर्थ है।’


Advertisement

भारत के इस फैसले के बाद बांग्लादेश, अफगानिस्तान और भूटान ने भी सार्क सम्मेलन में भाग लेने से इन्कार कर दिया है। वहीं, दूसरी तरफ आतंकवाद के मुद्दे पर नेपाल ने भारत का समर्थन किया है और पाकिस्तान से अपना रुख साफ करने के लिए कहा है।

माना जा रहा है कि भारत के फैसले से यह सम्मेलन रद्द हो सकता है। दक्षेस चार्टर के अनुसार किसी एक शासन प्रमुख की अनुपस्थिति में भी शिखर सम्मेलन नहीं हो सकता।

मंगलवार की देर रात इस फैसले की घोषणा करते हुए भारत ने कहा कि ‘‘एक देश’’ ने ऐसा माहौल बना दिया है जो शिखर सम्मेलन के सफल आयोजन के अनुकूल नहीं है.

विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहाः

‘‘भारत ने दक्षेस के मौजूदा अध्यक्ष नेपाल को अवगत करा दिया है कि क्षेत्र में सीमापार से आतंकवादी हमलों में वृद्धि और एक देश द्वारा सदस्य देशों के आंतरिक मामलों में बढ़ते हस्तक्षेप ने ऐसा वातावरण बना दिया है, जो 19वें दक्षेस सम्मेलन के सफल आयोजन के अनुकूल नहीं है।’’

विदेश मंत्रालय के बयान में यह भी कहा गया है कि हम यह भी समझते हैं कि दक्षेस के कुछ अन्य सदस्य देशों ने भी नवंबर 2016 में इस्लामाबाद में आयोजित सम्मेलन में शामिल होने को लेकर अपनी असमर्थता जताई है।

इस बीच, भारत के इस फैसले पर पाकिस्तान ने अपनी प्रतिक्रिया में आश्चर्य जताते हुए कहा है कि उसे इस बारे में आधिकारिक रूप से कोई जानकारी नहीं दी गई है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement