Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

India National Cricket Team: इंडियन क्रिकेट टीम का सफ़रनामा, जब-जब बनाया इतिहास

Published on 10 May, 2019 at 4:02 pm By

इंडियन क्रिकेट टीम भारत की राष्ट्रीय क्रिकेट टीम है। इस टीम का संचालन भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड यानी कि बीसीसीआई करती है। भारत में क्रिकेट को यूरोपीय व्यापारी नाविकों द्वारा 18वीं सदी में लाया गया था। भारत में पहला क्रिकेट क्लब कोलकाता में 1792 में स्थापित किया गया था। 1792 में स्थापित किये जाने के बाद भी भारत को अपना पहला मैच खेलने में समय लगा। भारत की राष्ट्रीय क्रिकेट टीम को 25 जून 1932 को लॉर्ड्स में अपना पहला मैच खेलने को मिला। इस मैच के बाद ही भारतीय टीम देश में टेस्ट टीम की हैसियत पाने वाली छठवी टीम बन गई।


Advertisement

 

 

शुरुआत में कमज़ोर रही थी टीम इंडिया

टीम का शुरुआती दौर काफ़ी कमज़ोर रहा। टीम ने 50 वर्षों में 196 में से 35 मैचों में जीत दर्ज कर बेहद ही खराब प्रदर्शन किया। इसके बाद 1970 के दशक से भारतीय क्रिकेट टीम एक शक्तिशाली टीम के रूप में उभरी। सन 1983 में कपिल देव की कप्तानी में भारतीय टीम ने पहली बार विश्व कप अपने नाम किया। यहीं से इंडियन क्रिकेट टीम ने फ़ॉर्म में आना शुरू किया और अब टीम दुनिया की सबसे शक्तिशाली टीमों में से एक है।

1983 का वर्ल्ड कप जीतने के बाद टीम इंडिया ने साल 2003 में हुए विश्व कप में सौरव गांगुली की कप्तानी में दूसरा स्थान हासिल किया। वहीं साल 2011 में महेन्द्र सिंह धोनी की कप्तानी में भारत ने दूसरी बार विश्व कप अपने नाम किया। अब टीम इस साल होने वाले वर्ल्ड कप के लिए जमकर तैयारी में जुटी हुई है।

 

 

इन खिलाड़ियों ने बनाए रिकॉर्ड्स


Advertisement

इंडियन क्रिकेट टीम के खिलाड़ियों ने भी टीम के लिए कई सारे रिकॉर्ड्स बनाए हैं। सचिन तेंदुलकर ने 16 साल की उम्र में भारतीय क्रिकेट टीम के लिए खेलना शुरू कर दिया था। सचिन ने अपने क्रिकेट करियर के दौरान कई रिकॉर्ड्स बनाए। सचिन सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले, सबसे ज़्यादा शतक लगाने वाले और वन डे और टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज़्यादा रिकॉर्ड बनाने वाले खिलाड़ी रहे। सचिन के अलावा वीरेन्द्र सहवाग ने भी टेस्ट क्रिकेट के दौरान एक पारी में सबसे ज़्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड बनाया। भारत की ओर से पहली बार तिहरा शतक भी सहवाग ने ही लगाया था।

 

 

सचिन-सहवाग के बाद इन्होंने संभाली कमान

सचिन और सहवाग के बाद इस क्रम को आगे बढ़ाया महेन्द्र सिंह धोनी, रोहित शर्मा और अनिल कुंबले ने। रोहित शर्मा ने साल 2012 में श्रीलंका के खिलाफ 264 रनों की पारी खेली। इसके अलावा रोहित ऐसे पहले खिलाड़ी बने, जिन्होंने 3 बार दोहरे शतक लगाए। वहीं अनिल कुंबले ने 600 से ज़्यादा विकेट लेकर इस रिकॉर्ड को भी अपने नाम किया। कुंबले टेस्ट क्रिकेट में एक ही पारी में 10 विकेट लेने वाली पहले भारतीय खिलाड़ी भी हैं। बात करें कैप्टन कूल महेन्द्र सिंह धोनी की तो उन्होंने साल 2005 में श्रीलंका के खिलाफ़ खेले गए वनडे मैच में 145 गेंदों में 183 रनों की शानदार पारी खेली थी। धोनी ने विकेट कीपर होते हुए इतने रनों की पारी खेली थी। धोनी ने 183 रन बनाकर एडम गिलक्रिस्ट के 172 रनों के रिकॉर्ड को तोड़ा था।

 



 

ये रहे इंडियन क्रिकेट टीम के कप्तान

इंडियन क्रिकेट टीम में लगभग 28 कप्तान रह चुके हैं। टीम इंडिया के सबसे पहले कप्तान सीके नायडू थे, जिन्होंने पहला मैच इंग्लैंड क्रिकेट टीम के खिलाफ़ खेला था। इनके अलावा 1933-34 में 3 टेस्ट मैचों की श्रृंखला में लाला अमरनाथ ने टीम इंडिया की कमान संभाली थी। लाला अमरनाथ की कप्तानी में ही भारत ने पहला टेस्ट मैच और पहली टेस्ट श्रृंखला जीती थी। इसके बाद साल 1961 से 1962 और 1969 से 1970 तक 36 टेस्ट मैचों में नवाब मंसूर अली ख़ान पटौदी ने भारत की कमान संभाली थी। इसके बाद इन्हें 4 मैचों के लिए 1979 में वापस कप्तान बनाया था। वहीं अजित वाडेकर की कप्तानी में भारत ने पहला वन डे अंतर्राष्ट्रीय मैच 1984 में जीता था। इसके बाद सौरभ गांगुली, महेन्द्र सिंह धोनी ने भी इंडियन क्रिकेट टीम की कमान संभाली। फ़िलहाल भारतीय टीम की कमान विराट कोहली संभाल रहे हैं तो वहीं बतौर कोच रवि शास्त्री टीम इंडिया के साथ जुड़े हुए हैं।

 

 

 

टीम इंडिया ने कब-कब जीता वर्ल्ड कप

वर्ल्ड कप, 1983: आज के समय में भारतीय क्रिकेट टीम और उसके खिलाड़ियों का दुनियाभर में डंका बोलता है। उनके फ़ैंस देश ही नहीं, विदेश में भी मौजूद हैं। भारतीय टीम ने अपने खेल से दुनियाभर में अपने प्रशंसक बनाए हैं। भारत ने अपना पहला वन डे वर्ल्ड कप 1983 में कपिल देव की कप्तानी में जीता था। इंग्लैंड के लॉर्ड्स मैदान पर भारत ने वेस्टइंडीज़ को 43 रनों से पटखनी दी थी। इस मैच में प्रतिद्वंदी टीम ने भारत को 183 रनों पर समेट दिया। इसके बाद बल्लेबाज़ी करने उतरी वेस्टइंडीज़ की टीम ने जल्द ही एक विकेट पर 50 रन भी बना लिए। सबको लग गया था ये मैच पूरी तरह से अब वेस्टइंडीज़ के कब्ज़े में चला गया है, लेकिन तभी खेल ने करवट ली और मोहिंदर अरमनाथ और मदन लाल की शानदार गेंदबाज़ी की फेर में एक-एक करके वेस्ट इंडीज़ के बल्लेबाज़ फंसते चले गए। वेस्टइंडीज की पूरी टीम 140 रन बनाकर आउट हो गई और इस तरह भारत ने इतिहास रचने हुए विश्व कप अपने नाम कर लिया।

 

T-20 वर्ल्ड कप, 2007: साउथ अफ्रीका में हुए पहले टी-20 विश्वकप में जो कुछ हुआ, उस पर यकीन पाना हर किसी के लिए मुश्किल था. टीम इंडिया को हर कोई फिसड्डी टीम मान रहा था, लेकिन किसको पता था धोनी की कप्तानी में ये टीम इतिहास लिख डालेगी। भारत ने इस टूर्नामेंट के फ़ाइनल मुकाबले में अपने चीर प्रतिद्वंदी पाकिस्तान को 5 रनों से मात दी थी। एक पल के लिए ऐसा लग रहा था, भारत अपना ये मैच हार जाएगा, लेकिन धोनी की कप्तानी और जोगिन्दर शर्मा के मैच के लास्ट ओवर ने जो कारनामा कर दिखाया, उसने भारतीय क्रिकेट टीम के सुगम सफ़र की शुरुआत कर डाली। पाकिस्तान को आखिरी ओवर में जीत के लिए 13 रन चाहिए थे, क्रीज़ पर जोगिंदर की बॉल का सामना करने के लिए पाक बल्लेबाज़ मिस्बाह-उल-हक खड़े थे। भारत को जीत के लिए पाकिस्तान का आखिरी विकेट लेना था। मिस्बाह ने जोगिन्दर की पहली दो गेंदों में सात रन जड़ दिए। इसके बाद तीसरी गेंद पर मिस्बाह विकेट के पीछे शॉट मार बैठे और ऊपर उछली बॉल को श्रीसंत ने लपक लिया। इस तरह से धोनी की कप्तानी में टीम इंडिया वर्ल्ड चैंपियन बनी।

 

वर्ल्ड कप, 2011: इस विश्व कप में भारत अपनी सरज़मीं पर ही खेल रहा था. फाइनल मुकाबले में भारत की भिड़त श्रीलंकाई टीम से हुई. मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए इस मुकाबले में श्रीलंका ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए टीम इंडिया के सामने 275 रनों का लक्ष्य रखा। शुरुआत में भारत को कई बड़े झटके लगे. 31 के स्कोर पर भारत ने अपने दो अहम विकेट गंवा दिए. लेकिन धोनी और गंभीर की शानदार पार्टनरशिप ने टीम इंडिया की नैय्या पार लगा दी। धोनी ने गंभीर के साथ मिलकर 109 रनों की शानदार पार्टनरशिप की। जहां गौतम गंभीर ने 97 रनों की पारी खेली तो वहीं धोनी ने 79 गेंदों में नाबाद 91 रन बनाए और छक्के के साथ टीम को वर्ल्ड कप का विजेता बनाया और वो वे मैन ऑफ़ द मैच रहे। वहीं युवराज सिंह 2011 में अपने बेहतरीन प्रदर्शन के चलते मैन ऑफ़ द टूर्नामेंट चुने गए।

 


Advertisement

2011 वर्ल्ड कप जीतने के साथ ही भारतीय क्रिकेट टीम पहली ऐसी मेज़बान टीम बनी, जिसने वर्ल्ड कप जीता हो। इससे पहले किसी भी टीम ने अपनी धरती पर वर्ल्ड कप हासिल नहीं किया था।

Advertisement

नई कहानियां

WAR Full Movie Leaked Online to Download: Tamilrockers पर लीक हो गई WAR, एचडी प्रिंट डाउनलोड करके देख रहे हैं लोग!

WAR Full Movie Leaked Online to Download: Tamilrockers पर लीक हो गई WAR, एचडी प्रिंट डाउनलोड करके देख रहे हैं लोग!


Tamilrockers पर लीक हुई ‘छिछोरे’, देखने के साथ फ्री में डाउनलोड कर रहे लोग

Tamilrockers पर लीक हुई ‘छिछोरे’, देखने के साथ फ्री में डाउनलोड कर रहे लोग


Sapna Choudhary Songs: सपना चौधरी के ये गाने किसी को भी थिरकने पर मजबूर कर दें!

Sapna Choudhary Songs: सपना चौधरी के ये गाने किसी को भी थिरकने पर मजबूर कर दें!


जानिए कैसे डाउनलोड करें YouTube वीडियो, ये है आसान तरीका

जानिए कैसे डाउनलोड करें YouTube वीडियो, ये है आसान तरीका


प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा होगा ख़ुद के घर का सपना, जानिए इससे जुड़ी अहम बातें

प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा होगा ख़ुद के घर का सपना, जानिए इससे जुड़ी अहम बातें


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें Sports

नेट पर पॉप्युलर