भारत ने चीन की सीमा पर उतारा दुनिया का सबसे बड़ा मिलिट्री प्लेन

author image
Updated on 4 Nov, 2016 at 11:21 am

Advertisement

चीन की सीमा पर जारी तनाव के बीच भारत ने यहां दुनिया के सबसे बड़े मिलिट्री प्लेन सी-17 ग्लोबमास्टर की तैनाती कर दी है।

LAC यानि कि वास्तविक नियंत्रण रेखा के नजदीक भारतीय सीमा पर आईटीबीपी के 70 और चीन के 55 सैनिक कई घंटे तक आमने-सामने रहे। चीनी सैनिक चाहते थे कि भारतीय सीमा में चल रहे एक नहर के निर्माण को रोक दिया जाए।

चीनी सैनिकों का कहना था कि इस इलाके में किसी भी तरह के निर्माण से पहले भारत को पहले इजाजत लेनी चाहिए थी। हालांकि, दोनों देशों के बीच सिर्फ डिफेंस सेक्टर में होने वाले निर्माण की जानकारी शेयर करने का समझौता है।

इसी तनानती के बीच, भारतीय वायुसेना ने अरुणाचल प्रदेश में चीन सीमा से महज 29 किलोमीटर दूर सी-17 ग्लोबमास्टर उतार दिया। इसे भारत की बड़ी कामयाबी कहा जा सकता है।

अरुणाचल प्रदेश के वेस्ट सियांग जिले के मेचुका का एडवांस लैंडिंग ग्राउंड (एएलजी) सी-17 ग्लोबमास्टर के लिहाज से बेहद छोटा है। इसलिए यहां ग्लोबमास्टर की सेफ लैंडिंग बड़ी कामयाबी है। भारत ने इससे पहले सी-130 जे. सुपर हार्कुलिस विमान की भी सुरक्षित लैंडिंग कराई थी।

भारत के फिलहाल इस तरह के पांच विमान हैं, जो अमेरिका से खरीदे गए हैं। यह दुनिया का सबसे बड़ा मिलिट्री एयरक्राफ्ट है जो आर्मी जवानों और उनके भारी से भारी सामान को कहीं भी पहुंचा सकता है।


Advertisement

पांच और सी-17 ग्लोबमास्टर भारतीय वायुसेना में जल्दी ही शामिल होने वाले हैं।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement