Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

धोनी का खेल तो और विस्फोटक होता जा रहा है….कहां गए आलोचक!

Published on 27 April, 2018 at 5:43 pm By

महेन्द्र सिंह धोनी महज एक क्रिकेटर का नाम नहीं है, बल्कि उस जज्बे का नाम है, जो जीत को एक झटके में अपनी झोली में करने की कुव्वत रखता है। बाहर से शांत दिखने वाले इस शख्स ने क्रिकेट की दशा को ठीक ही नहीं किया, बल्कि एक नई दिशा दी। ये कह सकते हैं कि धोनी विकेटकीपर, कप्तान, बल्लेबाज, पिता, पति आदि सभी भूमिका में जबर्दस्त हैं। 2007 टी-20 वर्ल्ड कप जीतने से लेकर 2011 वर्ल्ड कप जीतने तक धोनी ने बार-बार खुद को साबित किया है। इतना ही नहीं, उसके बाद भी वे लगातार डटे हुए हैं!


Advertisement

 

 

हारते हुए मैच को लीड करते हुए छक्के के साथ जीतना तो इनका सिग्नेचर स्टेप बन गया है। मैदान पर खेलते हुए जैसा संघर्ष और जुनून धोनी में दिखता है, वो विरले खिलाड़ियों में ही नजर आता है।

ऐसे में उम्र के 36वें साल में जब ये आ गए हैं तो उनके बार में कई भविष्यवाणियां कर दी जाती हैं। मसलन, अब वे 2019 के वर्ल्ड कप में नहीं चलेंगे, युवा खिलाड़ियों को मौक़ा देना चाहिए आदि-आदि। लेकिन धोनी में आज भी वही जज्बा बरकरार है। वो आज भी मैदान पर यंग क्रिकेटरों से ज्यादा ऊर्जा के साथ देखे जाते हैं।

 

फिर दिखाया मैदान पर चमत्कार

बुधवार को रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के ख़िलाफ़ खेलते हुए धोनी ने फिर चमत्कार दिखाया है। सीएसके को अंतिम ओवर में 16 रन चाहिए थे और ब्रावो ने तीन गेंदों में 11 रन बना लिए थे। जब टीम को 3 गेंदों में 5 रन चाहिए थे तो धोनी ने छक्का मारकर चेन्नई की झोली में जीत डाल दी। ऐसा कर उन्होंने 2011 वर्ल्ड कप की याद को फिर से ताजा कर दिया। इस मैच में शानदार पारी खेलते हुए धोनी ने 34 बॉल में 7 छक्के और एक मात्र चौके के दम पर 70 रन बनाए।



 

 

उसी मैच में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की पारी के दौरान बॉल से पहले बाउंड्री पर पहुंचकर उन्होंने चौका रोका तो वहीं कई दफा फील्डिंग करते युवाओं की प्रेरणा बनते दिखे।

 

 

उनके खेल का एक वाकया बरबस याद आता है कि जब 23 मार्च, 2016 बेंगलुरु में टी-20 वर्ल्डकप सेमीफ़ाइनल खेला जा रहा था। भारत ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 146 रन बनाए और बांग्लादेश की टीम 147 बनाने के लिए खेल रही थी। वे 11 रन के लिए अंतिम ओवर खेल रहे थे। उस मैच में धोनी ने मुस्तफ़िज़ुर रहमान को स्टंप आउट कर भारत को एक रन से मैच जीत दिलाई थी।


Advertisement

 

ऐसे अनेक मौके हैं कि जब धोनी ने अपने दम पर मैच जिताए हैं….इनको सलाम!

Advertisement

नई कहानियां

Sapna Choudhary Songs: सपना चौधरी के ये गाने किसी को भी थिरकने पर मजबूर कर दें!

Sapna Choudhary Songs: सपना चौधरी के ये गाने किसी को भी थिरकने पर मजबूर कर दें!


जानिए कैसे डाउनलोड करें YouTube वीडियो, ये है आसान तरीका

जानिए कैसे डाउनलोड करें YouTube वीडियो, ये है आसान तरीका


प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा होगा ख़ुद के घर का सपना, जानिए इससे जुड़ी अहम बातें

प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा होगा ख़ुद के घर का सपना, जानिए इससे जुड़ी अहम बातें


ब्रह्माजी को क्यों नहीं पूजा जाता है? एक गलती की सज़ा वो आज तक भुगत रहे हैं

ब्रह्माजी को क्यों नहीं पूजा जाता है? एक गलती की सज़ा वो आज तक भुगत रहे हैं


Hindi Comedy Movies: बॉलीवुड की ये सदाबहार कॉमेडी फ़िल्में, आज भी लोगों को गुदगुदाने का माद्दा रखती हैं

Hindi Comedy Movies: बॉलीवुड की ये सदाबहार कॉमेडी फ़िल्में, आज भी लोगों को गुदगुदाने का माद्दा रखती हैं


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें News

नेट पर पॉप्युलर