प्रकृति की अद्भुत देन है अगत्ती द्वीप

Updated on 25 Dec, 2015 at 4:30 pm

Advertisement

कोचीन के समुद्री तट से करीब 250 किलोमीटर की दूरी पर स्थित अगत्ती द्वीप प्रकृति की एक अद्भुत देन है। यह करीब 7 किलोमीटर लंबा और 3.84 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ है।

यह लक्षद्वीप का सबसे सुन्दर लैगून है। माना जाता है कि यहां की धरती का निर्माण मूंगों द्वारा किया गया है और उन्होंने ही इसे मनुष्यों के रहने के लिए उपयुक्त बनाया है।

पर्यटकों के लिए स्वर्ग

इस द्वीप को पर्यटकों के लिए स्वर्ग माना जाता है। यहां का वातावरण इतना नैसर्गिक है कि यहां देश-विदेश के पर्यटक बरबस खिंचे चले आते हैं। हालांकि, विदेशी पर्यटकों को यहां रुकने की अनुमति प्राप्त नहीं है। अगत्ती अपने खूबसूरत समुद्री बीच की खूबसूरती के लिए प्रसिद्ध है।


Advertisement

अदि्वतीय खूबसूरती

दूर तक फैला नीला पानी, क्षितिज पर सूरज चमक और रंगबिरंगी मछलियां अगत्ती को खूबसूरती प्रदान करते हैं। दूर पाने में तैरती नावें और किनारों पर कतार में लगे नारियल के पेड़। इस नजारे को शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता है।



यहां कर सकते हैं डाइविंग

पानी के साथ तैरना रोमान्चक अनुभव हो सकता है। आपकी उम्र भले ही कुछ भी हो, लेकिन आप यहां गोते लगा सकते हैं। समुद्रतल में पहुंचकर आप एक अलग दुनिया का मजा लेते हैं, जो वाकई अविश्वसनीय है।

हवाई अड्डा का आकर्षण

यहां का हवाई अड्डा भी अपने आप में आकर्षक है। इसका नाम दुनिया के सबसे छोटे हवाई अड्डों में शुमार है।

architecture-online

architecture-online


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement