हिन्दुओं के पलायन के कुख्यात कैराना में बड़ी संख्या में हथियारों का जखीरा बरामद

author image
Updated on 13 Jan, 2017 at 7:15 pm

Advertisement

हिन्दुओं के पलायन के कुख्यात रहे उत्तर प्रदेश के कैराना में बड़ी संख्या में हथियारों का जखीरा बरामद किया गया है। इन अवैध हथियारों में बंदूक, पिस्टल और कट्टे शामिल हैं। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों से ठीक पहले बड़ी संख्या में हथियारों के जब्त होना प्रशासन के लिए चिन्ता का विषय है।

आपको याद होगा कि कुछ ही महीने पहले मुस्लिम समुदाय बहुल कैराना से सैकड़ों हिन्दू परिवार असुरक्षा का हवाला देते हुए पलायन कर गए थे। यहां कई हिन्दू व्यापारियों की हत्या हो गई, वहीं कई जबरन वसूली का शिकार हुए।

इस रिपोर्ट में बताया गया है कि कैराना के दो गांवों में हथियारों की यह खेप पूर्वी उत्तर प्रदेश से आई थी। माना जा रहा है कि इन हथियारों का इस्तेमाल उत्तर प्रदेश के चुनावों में किया जाना था। बड़ी संख्या में तैयार हथियारों के अलावा हथियारों के हिस्से भी मिले हैं, जिन्हें एसेम्बल किया जाना था। यह जब्ती उत्तर भारत में बीते कुछ सालों की गई सबसे बड़ी जब्ती है।

पुलिस ने इस मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। फिलहाल पुलिस आरोपी से पूछताछ कर पता लगाने में जुटी है कि हथियारों का यह जखीरा कहां से लाया गया और इन हथियारों की डिलीवरी आखिर किसे दी जानी थी।



topyaps

गौरतलब है कि पिछले दो साल में इस कैराना से रंगदारी, फिरौती और गुंडागर्दी की वजह से 346 परिवार अपने-अपने घरों में ताला लगाकर भाग गए। ये सभी परिवार हिन्दू समुदाय के हैं। पिछले दिनों रंगदारी न देने की वजह से चार हिन्दू व्यापारियों की हत्या कर दी गई। यहां के हिन्दू परिवारों को जान-बूझकर अपने व्यापार छोड़ने के लिए मजबूर किया गया। इनमें से अधिकतक व्यापारी लोहा, सर्राफा और हार्डवेयर से जुड़े थे। इन व्यापारियों से जबरन वसूली की गई। धमकाया गया और बाद में घर, प्रतिष्ठान छोड़ने पर मजबूर किया गया।

कैराना से भारतीय जनता पार्टी के सांसद हुकुम सिंह ने घरबार छोडकर भागने वाले 346 परिवारों की सूची के अलावा 10 ऐसे लोगों की सूची जारी की थी, जिनकी हत्या रंगदारी न देने पर कर दी गई। उन्होंने पलायन कर रहे लोगों की तुलना कश्मीरी पंडितों से करते हुए कहा कि कैराना में हालात बद से बदतर हैं।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement