IIT के छात्रों ने बना डाला पहला स्वदेशी सुपरपावर ड्रोन, युद्ध और आपदा से निपटने में होगा सक्षम

author image
Updated on 21 Mar, 2017 at 6:21 pm

Advertisement

देश में पहली बार, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) खड़गपुर के छात्रों ने स्वदेशी सुपरपावर ड्रोन तैयार किया है। आपातकालीन स्थितियों के लिए विशेष रूप से बनाए गए इस ड्रोन का नाम महाभारत के बलवान योद्धा भीम के नाम पर रखा गया है।

लंबाई में एक मीटर से भी कम इस ड्रोन का निर्माण करने वाले छात्रों का कहना है कि मानवरहित यह ड्रोन अत्याधुनिक सुरक्षा व्यवस्था जैसी अनोखी खूबियों से लैस है।

यह ड्रोन अपने एक किमी के दायरे में वाई-फाई जोन बना सकता है। वहीं, इसकी बैटरी बैकअप भी जबरदस्त है। यह लगातार सात घंटे तक उड़ान भर सकता है। संघर्षपूर्ण और दुर्गम क्षेत्रों में यह ड्रोन विशेष भूमिका निभा सकता है। यह सुरक्षाबलों, बचावकर्मियों और यहां तक कि आम लोगों को बाधारहित संचार की सुविधा देने में भी सक्षम है।

इस ड्रोन की सबसे बड़ी खासियत है कि यह लम्बे समय तक उड़ान भर सकता है और पैराशूट के जरिए आपातकालीन आपूर्ति बहाल करने की क्षमता भी रखता है।

इस शोध से जुड़े कंप्यूटर विभाग और इंजीनियरिंग विभाग के फैकल्टी मेम्बर सुदीप मिश्र ने बतायाः


Advertisement

“अभी तक किसी भी ड्रोन में ऐसी कृत्रिम बुद्धिमत्ता मौजूद नहीं है। यह पूरी तरह स्वदेशी है। इसे नियंत्रित करने वाली प्रणाली हमारी प्रयोगशाला में ही विकसित की गई है।”

आपको बता दें कि इस ड्रोन को छात्रों ने सुदीप मिश्रा और एक अन्य फैकल्टी मेम्बर एनएस रघुवंशी के नेतृत्व में विकसित किया है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement