IIT कानपुर ने 60 छात्रों को दिखाया बाहर का रास्ता, वजह जानकर आपको हैरानी नहीं होगी

author image
Updated on 10 Jul, 2017 at 9:39 am

Advertisement

IIT कानपुर ने 60 छात्रों को खराब परफॉर्मेन्स के आधार पर कॉलेज से बाहर निकाल दिया है। बताया गया है कि ये छात्र पढ़ाई में बेहद कमजोर थे और बार-बार मौका दिए जाने के बावजूद इनके परफॉर्मेन्स में सुधार नहीं हो रहा था। छात्रों को अपनी बात कहने का एक मौका दिया गया था। लेकिन बेहद कमजोर छात्रों के साथ कोई नरमी नहीं बरती गई।

इस रिपोर्ट में एकेडमिक्स के डीन डॉ. नीरज मिश्रा के हवाले से बताया गया हैः

“छात्रों को नियमों के मुताबिक ही बाहर निकाला गया है। कमजोर छात्रों को उनकी परफॉर्मेन्स सुधारने का मौका दिया गया था, पर वे इसमें नाकामयाब रहे। इसलिए इन छात्रों को कॉलेज से बाहर निकाला गया है।”


Advertisement

जिन छात्रों को निकाला गया है उनमें 46 अंडरग्रैजुएट, 8 पोस्ट ग्रैजुएट और 6 रिसर्च स्कॉलर्स शामिल हैं।



कॉलेज प्रशासन की तरफ से टर्मिनेट छात्रों के अभिभावकों को इस बात की सूचना दी गई है। साथ ही यह भी सुनिश्चित किया गया है कि निकाले गए छात्रों में से कोई भी परेशान होकर गलत कदम न उठा ले।

इससे पहले पिछले साल दिसंबर महीने में भी पढ़ाई छोड़कर चले गए और मानकों को पूरा न करने वाले 60 पीएचडी छात्रों को आईआईटी ने बाहर का रास्ता दिखाया था। माना जाता है कि आरक्षण के माध्यम से आईआईटी में दाखिला लेने वाले छात्र पढ़ाई में कमजोर होने की वजह से इसे पूरा नहीं कर पाते हैं। हालांकि, मौजूदा घटनाक्रम में आरक्षित वर्ग के छात्र कितने हैं, इसका पता नहीं चल सका है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement