स्कूली किताब में मस्जिद को बताया प्रदूषण का कारण, सोशल मीडिया में बवाल

Updated on 3 Jul, 2017 at 11:23 am

Advertisement

मस्जिद को प्रदूषण का कारण बताया जा रहा है, वो भी बच्चों की किताब में। इसको लेकर बवाल मचा हुआ है। किताब को वापस लेने की मांग की जा रही है।

दरअसल, आईसीएसई बोर्ड की छठी क्लास की किताब में छपी तस्वीर के जरिए मस्जिद को ध्वनि प्रदूषण का कारण बताया गया है। इससे लोग खासे नाराज हैं। गुस्साए लोग सोशल मीडिया पर जमकर आलोचना कर रहे हैं। साथ ही पब्लिशर से माफी मांगने के लिए कह रहे हैं।

सेलिना पब्लिशर्स की क्लास 6 की साइंस की किताब में ध्वनि प्रदूषण पर एक चैप्टर है। इसमें कार, ट्रेन, प्लेन के साथ मस्जिद की तस्वीर छपी है। इन तस्वीरों के सामने एक शख्स को आवाज से परेशान होकर अपने कान बंद करते दिखाया गया है। इसी को लेकर सोशल मीडिया यूजर्स ने एक ऑनलाइन पिटिशन के जरिए किताब को बाजार से वापस लेने की मुहिम छेड़ दी है।

ध्वनि प्रदूषण मानक सीमा से ज्यादा होने पर केन्द्रिय पर्यावरण विभाग उसपर प्रतिबंध लगा सकता है, चाहे वो मंदिर, मस्जिद या गुरुद्वारा ही क्यों न हो। मामले पर अब तक आईसीएसई बोर्ड की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है लेकिन पब्लिशर ने तस्वीर के लिए माफी मांगी है।

सोशल मीडिया साइटों पर पब्लिशर हेमंत गुप्ता ने कहा हैः ‘किताब के नए संस्करणों में मस्जिद की तस्वीर हटा दी जाएगी।’ उन्होंने आगे कहाः ‘किताब के पेज नंबर 202 पर छपी तस्वीर एक किले के हिस्से से मेल खाती है। अगर इस तस्वीर से किसी की भावनाएं आहत होती हैं तो मैं माफी मांगता हूं।’


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement