आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर फाइटर जेट्स ने दिखाए करतब, अब तक की सबसे बड़ी लैंडिंग

author image
Updated on 24 Oct, 2017 at 2:51 pm

Advertisement

भारतीय वायुसेना के फाइटर जेट्स ने आज आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर टच डाउन कर इतिहास रच दिया।

यह देश में किसी एक्सप्रेस-वे पर अब तक की सबसे बड़ी लैंडिंग है। इस अभ्यास में 20 विमानों ने भाग लिया। मंगलवार की सुबह शुरू हुए इस अभ्यास में एक्सप्रेस-वे पर सबसे पहले भारतीय वायुसेना का ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट C-130 J सुपर हरक्यूलिस उतरा।

यह दुनिया का सबसे बड़ा सैन्य मालहावक जहाज है।

C-130 J सुपर हरक्यूलिस के टच डाउन का विडियो। इस विमान के टच डाउन करते ही इसमें से गरुड़ कमांडो अपनी गाड़ियों और साजोसामान के साथ उतरे।

इसके बाद मिराज फाइटर जेट्स की बारी थी।

एक्सप्रेस-वे पर एक के बाद एक तीन मिराज-2000 उतरे। ये फाइटर जेट्स 530D मिसाइल से लैस हैं। साथ ही इनमें 30 MM की तोप लगी हैं। मिराज की रफ्तार 2495 किलोमीटर प्रति घंटा है और ये हवा में ही दूसरे विमान को मार गिराने में सक्षम हैं। भारतीय वायुसेना में इस वक्त 50 की संख्या में मिराज-2000 अपनी सेवाएं दे रहे हैं।

फाइटर जेट्स का करतब देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे।

मारक मिराज के बाद बारी थी जगुआर की।

जगुआर फाइटर जेट्स में 300MM की गन लगी हैं और यह 1350 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बम वर्षा करने में सक्षम है।

ड्रिल के सबसे अंत में शक्तिशाली सुखोई 30 को उतारा गया।

इस वक्त सुखोई 30 भारतीय वायुसेना का सबसे शक्तिशाली विमान है। 8 हजार किलो गोला-बारूद लेने जाने में सक्षम सुखोई 30 की रेंज तीन हजार किलोमीटर तक है। यह अपने आधुनिक रडार की मदद से दुश्मन के विमान की पोजिशन का पता लगा लेता है।

भारतीय वायुसेना ने क्यों किया ये ड्रिल?

भारतीय वायुसेना किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयारी कर रही है। ऐसे में यह देखना जरूरी होता है कि फाइटर जेट्स को हाईवेज या एक्सप्रेस वेज पर उतारा जा सकता है या नहीं। युद्ध के समय दुश्मन देश आमतौर पर एयरबेस पर निशाना साधते हैं। यही वजह है एक्सप्रेस वेज को आपात स्थिति के लिए तैयार रखा जाए। यह तीसरी बार है जब एक्सप्रेस वे पर इस तरह की ड्रिल हुई है। पहली बार मई 2015 में यमुना एक्सप्रेस-वे पर मथुरा के करीब मिराज फाइटर जेट्स ने लैंडिग की थी।

फिलहाल इस ड्रिल के माध्यम से भारत ने यह संदेश दिया है कि वह किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए तैयार है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement