Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

हैदराबाद हाईकोर्ट के जज ने दिया बयान, कहा- भगवान और मां के समान है गाय

Published on 10 June, 2017 at 11:57 pm By

हैदराबाद हाईकोर्ट के जज ने गाय पर एक बड़ा बयान देते हुए गाय को देश की पवित्र संपदा बताया है। जस्टिस बी शिवाशंकर राव ने गाय को राष्ट्रीय धरोहर करार देते हुए कहा कि गाय देश का पवित्र राष्ट्रीय धन है, जो मां और ईश्वर का विकल्प है।

एक पशु व्यापारी की याचिका खारिज करते हुए जस्टिस राव ने ये बात कही।


Advertisement

रामावथ हनुमा नाम के एक व्यक्ति की 63 गाय और दो बैल जब्त कर ली गई थी, जिन्हें छुड़ाने की याचिका लेकर सबसे पहल वो निचली अदालत गया था, लेकिन वहां उसकी याचिका ठुकरा दी गई। इसके बाद वह हाईकोर्ट में याचिका लेकर पहुंचा।

रामावथ हनुमा का पक्ष था कि वह गायों को चराने के लिए अपने गांव के पास कंचनपल्ली गांव लेकर गया था। वहीं दूसरे पक्ष ने कहा कि वह गायों को चराने के लिए नहीं, बल्कि बाजार बेचने के लिए ले जा रहा था, ताकि बकरीद के दौरान गौमांस बेच सके।



cow

जस्टिस राव ने हनुमा की दलील यह कहकर ठुकरा दी कि वह ट्रायल कोर्ट के फैसले में दखल नहीं देना चाहते। उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के आदेश का जिक्र करते हुए कहा कि बकरीद के मौके पर मुस्लिम धर्म के लोगों को स्वस्थ्य गाय को काटने का कोई मौलिक अधिकार नहीं मिला है।


Advertisement

आपको बता दे कि कुछ दिनों पहले राजस्थान हाई कोर्ट ने भी गाय को राष्ट्रीय पशु का दर्जा देने की बात कही थी।

Advertisement

नई कहानियां

सुहागरात से जुड़ी ये बातें बहुत कम लोग ही जानते हैं

सुहागरात से जुड़ी ये बातें बहुत कम लोग ही जानते हैं


नेहा कक्कड़ के ये बेहतरीन गाने हर मूड को सूट करते हैं

नेहा कक्कड़ के ये बेहतरीन गाने हर मूड को सूट करते हैं


मलिंगा के इस नो बॉल को लेकर ट्विटर पर बवाल, अंपायर से हुई गलती से बड़ी मिस्टेक

मलिंगा के इस नो बॉल को लेकर ट्विटर पर बवाल, अंपायर से हुई गलती से बड़ी मिस्टेक


PUBG पर लगाम लगाने की तैयारी, सिर्फ़ इतने घंटे ही खेल पाएंगे ये गेम!

PUBG पर लगाम लगाने की तैयारी, सिर्फ़ इतने घंटे ही खेल पाएंगे ये गेम!


अश्विन-बटलर विवाद पर राहुल द्रविड़ ने अपना बयान दिया है, क्या आप उनसे सहमत हैं?

अश्विन-बटलर विवाद पर राहुल द्रविड़ ने अपना बयान दिया है, क्या आप उनसे सहमत हैं?


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें Culture

नेट पर पॉप्युलर