यहां की महिलाएं ताउम्र रहती हैं जवान, मां-बेटी में फर्क करना हो जाता है मुश्किल

author image
Updated on 29 May, 2018 at 5:30 pm

Advertisement

महिलाएं बढ़ती उम्र के साथ अपनी त्वचा को जवान रखने के लिए क्या क्या नहीं करती। आयुर्वेदिक नुस्खों, कॉस्मेटिक क्रीम  से लेकर वैज्ञानिक तकनीकों का इस्तेमाल कर अपने आप को जवान रखने में लगी रहती हैं। इसके बावजूद कभी न कभी तो उम्र का तकाजा चेहरे पर दिख ही जाता है।

हालांकि, आज हम आपको एक ऐसी जगह के बारे में बताने जा रहे हैं, जहां के 80 पार कर चुके लोग भी 40 के दिखते हैं। यहां की महिलाएं किसी अप्सरा से कम नहीं लगतीं। यहां 60 साल की महिलाएं भी 20 साल की लड़की जैसी दिखती हैं। यहां मां और बेटी में फर्क करना मुश्किल हो जाता है कि कौन मां है और कौन बेटी।

 

 

ये सुनकर आपको अचरज हुआ होगा, लेकिन यह सच है। इन महिलाओं को जवान दिखने के लिए किसी प्रोडक्ट की जरूरत नहीं है, ये प्राकृतिक रूप से ही जवान और सुन्दर दिखती हैं।

 

 

ये महिलाएं कराकोरम पहाड़ियों में स्थित हुंजा घाटी में रहती हैं। गिलगित-बाल्टिस्तान के पहाड़ों में स्थित हुंजा घाटी भारत और पाकिस्तान के बीच नियंत्रण रेखा के पास पड़ती है।

 

hunza valley women (हुंजा घाटी की महिलाएं)


Advertisement

 

करीबन 87 हजार जनसंख्या वाली इस घाटी में लोगों की औसतन आयु करीब 120 साल है।  यहां के पुरुष 90 की उम्र तक भी पिता बनते हैं।

 

hunza valley women (हुंजा घाटी की महिलाएं)

 

वहीं, उम्र के जिस पड़ाव में बच्चा पैदा करना असंभव माना जाता है, वहीं यहां की महिलाएं 65 की उम्र में भी बच्चों को जन्म देती हैं। इससे उनके स्वास्थ्य पर भी कोई बुरा असर नहीं पड़ता।

 

hunza valley women (हुंजा घाटी की महिलाएं)

 

हुंजा जनजाति की खास बात यह है कि यहां के लोग बहुत कम बीमार पड़ते है। हुंजा घाटी के इन लोगों की जीवनशैली ही इनके लंबे जीवन का रहस्य है। सुबह सूरज के निकलने के साथ ही यह उठ जाते हैं। यह शून्य के भी नीचे के तापमान पर बर्फ के ठंडे पानी से नहाते हैं। ये रोज 15 से 20 किलोमीटर तक चलते और टहलते हैं। ये अपने द्वारा उगाई गई ही सब्जियां खाते हैं। ये दिन में केवल दो बार ही भोजन करते हैं।

हुंजा घाटी के इन लोगों को देखकर कहा जा सकता है कि एक इंसान अच्छी जीवनशैली के पालन से अपने आपको स्वस्थ रख सकता है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement