कहीं आपके सोने में भी मिलावट तो नहीं? इन आसान तरीकों से करें असली सोने की परख

Updated on 20 Apr, 2018 at 12:37 pm

Advertisement

बात त्यौहार की हो या उपहार की, सोने का जिक्र आ ही जाता है। भारत में सोने को एक सुरक्षित निवेश के रूप में भी खरीदा जाता है। गैर आधिकारिक तौर पर भारत के लोगों द्वारा व्यक्तिगत रूप से सोना रखने की बात कही जाती है। उस लिहाज से देखा जाए तो हम विश्व के पहला देश हैं जहां सोने की सबसे अधिक उपलब्धता है।

भारत में सोने की खपत का इतिहास काफी पुराना है। ईसा से ढाई हजार साल पूर्व सिंधु घाटी में सोना मिलने की बात कही गई है। शायद यही कारण है कि एक समय इस देश को सोने की चिड़िया कहा जाता था। इस बहुमूल्य धातु का उपयोग हमारे रीति-रिवाजों  में हमेशा से होता रहा है।

 

mygoldguide


Advertisement

 

भारत में लोग अपनी गाढ़ी कमाई से हर साल सोने की खरीदारी करते हैं। सोने की चमक हर किसी को अपनी ओर आकर्षित करती है। खासतौर पर शादी-ब्याह के मौके पर तो सोने की मांग बढ़ना आम बात है। वैसे तो सोने की खरीदारी करते वक्त उस पर लगे हॉलमार्क से इस बात की पुष्टि हो जाती है कि सोना असली है। हालांकि, कई बार लोग आभूषण विक्रेताओं द्वारा ठग लिए जाते है, जिसके चलते असली सोने के बजाय मिलावटी सोना आपके हाथ लग जाता है। ऐसे में सोने की शुद्धता की जांच करने के लिए आज हम आपको कुछ टिप्स दे रहे हैं। इन उपायों के जरिए आप सोने की गुणवत्ता की जांच कर सकते हैं।

 

 मैग्नेट टेस्ट

ये पता लगाने के लिए कि सोना असली है या नकली आप  मैग्नेट टेस्ट कर सकते हैं। इस टेस्ट के जरिए सोने की गुणवत्ता को आसानी से परखा जा सकता है। एक बड़ी चुंबक को सोने से चिपकाएं अगर सोना चुंबक की ओर आकर्षित होता है, तो इसका मतलब है कि सोने में किसी प्रकार की मिलावट की गई है।

 

एसिड टेस्ट

यदि आपके मन में सोने की गुणवत्ता को लेकर संशय बना हुआ है तो नाइट्रिक एसिड को सोने पर डालकर आप सोने की शुद्धता की पहचान कर सकते हैं। सोने पर एक हल्का निशान लगाकर उसपर नाइट्रिक एसिड की एक छोटी बूंद को डालें अगर सोने का रंग बदलकर हरा हो जाता है तो इसका मतलब है कि सोना नकली है। लेकिन अगर ऐसा नहीं होता तो इसका मतबल आपके पास खरा सोना है।

 



सिरामिक थाली पर करें सोने की परख

सिरामिक थाली पर घिसकर भी सोने की गुणवत्ता को परखा जा सकता है। आप एक सिरामिक थाली लें उसपर सोने को धीरे-धीरे घिसें। अगर थाली पर काला रंग पड़ने लगता है तो इसका मतलब कि आपके सोने में मिलावट है, लेकिन अगर सुनहरा हरा रंग थाली पर आता है तो आप निश्चिंत हो जाएं।

 

पानी में  डालकर परखें  इसकी शुद्धता

सोने की शुद्धता को वाटर टेस्ट के जरिए भी पता किया जा सकता है। एक बर्तन में पानी डालकर उसमें अपने सोने को डालें। अगर सोना पानी की सतह तक पहुंच जाता है, तो इसका मतलब है कि सोना असली है। लेकिन अगर वो पानी में तैरता रहता है तो ये सोने में मिलावट के संकेत हैं।

 

दांतों से करें पहचान

सोने की खरीदारी करते समय ये टेस्ट आप आभूषण विक्रेता के सामने भी कर सकते हैं। आपको सोने को आपने दातों पर रखकर उसे हल्के से दबाना है, आपके दातों के दबाव से अगर सोने पर निशान पड़ रहे हैं तो इसका मतलब है कि सोना असली है।

 

 


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement