Advertisement

…जब चीन के एक घर को पैक कर शिफ्ट कर दिया गया अमेरिका

11:56 am 11 Sep, 2017

Advertisement

छोटे-मोटे गिफ्ट जैसे कि मोबाइल, लैपटॉप, घड़ी, किताबें आप आॉनलाइन ऑर्डर कर सकते हैं और इसकी डिलिवरी भी आपको मिल जाती होगी। कभी-कभी मोटरबाइक, कार भी आपको ऐसे मिले तो कोई आश्चर्य नहीं है, लेकिन आप क्या कहेंगे, जब आपसे कहा जाए कि एक बड़ा सा घर पैक कर दूसरी जगह भेज दिया गया। जी हां! एक पूरे के पूरे घर को पैक करके चीन से अमेरिका भेजा गया, जहां उसे उसे फिर से खोलकर खड़ा कर दिया गया। यह घटना 15 साल पुरानी है।

गौरतलब है कि चीन को घरों को रिलोकेट करने में महारत हासिल है। चीन में सड़क निर्माण और अन्यान्य कारणों से घरों को रिलोकेट किया जाता है, लेकिन ऐसा कुछ मीटरों तक खिसकाने के लिए किया जाता है। हैरानी की बात ये है कि लगभग 15 साल पहले पूरा का पूरा घर 12000 किलोमीटर दूर अमेरिका शिफ्ट किया गया था।

ज्ञात हो कि वो घर आज भी मैसाच्युसेट्स अमेरिका के एक संग्रहालय में स्थापित है, जिसे यिन यु तांग कहा जाता है। जिसका शाब्दिक अर्थ होता है, प्रचुर छत्रछाया। 16 कमरों वाला ये घर 18वीं शताब्दी के अंतिम दौर में पारंपरिक रूप से बनाया गया था। किंग राजवंश (1644-1911) के समय चीन के दक्षिण-पश्चिम क्षेत्र हुइझोऊ स्थित अनहुई गांव में हुआंग सरनेम वाले एक अमीर व्यापारी ने इस घर का निर्माण करवाया था।


Advertisement

ये घर लगभग 2 सौ साल तक हुआंग परिवार का आवास रहा। वर्ष 1982 में इस परिवार के अंतिम सदस्य के गांव छोड़ देने के बाद से ये बंद हालत में था। वर्ष 1996 में नैन्सी बर्लिनर नामक एक अमेरिकी स्कॉलर चीनी आर्किटेक्चर और फर्नीचर पर रिसर्च करने के लिए चीन आई तो उन्होंने इस घर को देखा और हुआंग फैमिली से इस घर को पीबॉडी एसेक्स म्यूजियम (पीईएम) के लिए खरीद लिया। नैन्सी उन दिनों पीबॉडी एसेक्स म्यूजियम (पीईएम) के लिए काम कर रही थी।

घर को खरीदने के बाद लम्बी और कठिन प्रक्रिया के तहत इसको रीलोकेट किया गया। आर्किटेक्ट की मदद से इसके एक-एक भाग को ठीक से खोला गया और पैक किया गया। फिर अमेरिका भेजकर वहां हूबहू इसे खड़ा कर दिया गया। रीलोकेशन का ये सबसे बड़ा और कठिन वाकया था।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement