अगर आपसे रेस्टोरेन्ट में पानी की बोतल के लिए अतिरिक्त पैसे मांगे जाते हैं तो आपको यह करना चाहिए

author image
Updated on 22 Feb, 2017 at 6:13 pm

Advertisement

यह सर्वविदित तथ्य है कि रेस्टोरेन्ट के मालिक या कर्मचारियों को अपने ग्राहकों से पानी की बोतल के लिए एमआरपी से अधिक पैसा नहीं वसूलना चाहिए। हालांकि, ऐसा कम ही रेस्टोरेन्ट मानते हैं। रेस्टोरेन्ट प्रबंधन कभी बिजली तो कभी रखरखाव के बढ़ते खर्चों का हवाला देते हुए पानी की बोतलों के लिए अतिरिक्त पैसे की मांग करते हैं।

हालांकि, हैदराबाद के एक रेस्टोरेन्ट को अपने ग्राहक से पानीकी बोतल के लिए एमआरपी से अधिक पैसा वसूलना महंगा पड़ गया। इस रेस्टोरेंट को जिला उपभोक्ता विवाद निवारण फोरम द्वारा अपने एक ग्राहक से पानी के दोगुने दाम वसूलने का दोषी मानते हुए 20000 रुपए का जुर्माना लगाया है। रेस्टोरेंट को यह रकम अपने उस ग्राहक हो देनी होगी।

बताया गया है कि हैदराबाद के बंजारा हिल्स स्थित सरवी होटल में 27 जुलाई 2015 को सीएच कोंडैयाह लंच करने के लिए पहुंचे थे। कोंडैयाह आंध्र प्रदेश के प्रकाशम् जिले के रहने वाले हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, लंच के दौरान लिए गए पानी की बोतल पर उन्हें उस बोतल की एमआरपी 20 रुपए से डबल चार्ज का बिल दिया गया।


Advertisement

उन्होंने इस बात की शिकायत होटल के मैनेजर से की, तो उन्हें जवाब दिया गया कि एमआरपी से अतिरिक्त पैसे लिए जाना एक सामान्य सी बात है।

हालांकि, कोंडैयाह इस जवाब से संतुष्ट नहीं हुए। उन्होंने सरवी फूड कोर्ट के खिलाफ जिला फोरम का दरवाजा खटखटाया।

सुनवाई में कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि होटल अपने यहां बनाए गए किसी भी खाद्य पदार्थ की कीमत तय करने के लिए स्वतंत्र है। लेकिन उसे यह हक नहीं है कि वो किसी डब्बा बंद खाद्य पदार्थों और पानी की बोतल या सॉफ्ट ड्रिंक के दाम अपने हिसाब से तय कर उसके अतिरिक्त दाम ग्राहक से वसूले।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement